न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पलामू: तीन वर्षों में वज्रपात से 55 की मौत

विधायक किशोर ने प्रभावित परिवारों को सौंपा मुआवजा राशि

396

Palamu : पलामू जिले के छत्तरपुर प्रखंड अंतर्गत हुलसम गांव में वज्रपात से हुई मौत के शोक संतप्त परिवार को आपदा राहत कोष से शनिवार को सहायत राशि प्रदान की गयी. प्रभावित परिवारों को चेक प्रदान करते हुए विधायक राधा कृष्ण किशोर ने कहा कि वज्रपात से मौत की घटना में हो रही वृद्धि एक घोर चिंता का विषय है. विधायक किशोर ने कहा कि जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकार से प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्ष 2016-17 से 2018-19 तक पलामू जिले से विभिन्न क्षेत्रों में वज्रपात से मौत की कुल 55 घटनाएं प्रतिवेदित हुई है.

इसे भी पढें-वेश्यावृत्ति नियमित पेशा बन गया है, इसे कानूनी रूप देना चाहिए : संतोष हेगड़े

बचाव के लिए लोगों प्रशिक्षित एवं जागरूक करना आवश्यक

उन्होंने कहा कि वज्रपात से बचाव के लिए लोगों प्रशिक्षित एवं जागरूक करना आवश्यक है. वज्रपात से बचाव के उपायों को यथा हैंडविल, दीवाल लेखन आदि के माध्यम से लोगों को जानकारी दी जानी चाहिए. किशोर ने कहा कि पलामू जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकार की क्षमता से वृद्धि भी जरूरी है.

विधायक राधाकृष्ण किशोर ने छत्तरपुर के हुलसम गांव में गत आठ जून को वज्रपात से मृत स्वर्गीय गोपाल सिह के पुत्र धमेन्द्र सिंह और स्व. दयानंद सिंह के पिता विनोद सिंह को आपदा राहत कोष से 4-4 लाख रूपये का चेक प्रदान किया. विदित है कि 45 वर्षीय स्व. गोपाल सिंह कि पत्नी का निधन 10 वर्ष पहले ही हो गई थी.

8 जून को गोपाल सिंह की मौत वज्रपात से हो जाने के बाद उनके घर में एक बेटी, रिंकी कुमारी तथा एक बेटा, धमेन्द्र सिंह (दोनों नाबालिक) बच गए है. उन दोनों के सर से मां-बांप का साया उठ गया. स्व. गोपाल सिंह कि पुत्री रिंकी कुमारी ने विधायक किशोर को बताया कि उनके पास पैसे का अभाव है. विधायक किशोर ने तत्काल दो हजार रुपये रिंकी कुमारी को दिया.इस अवसर पर छत्तरपुर अचंल अधिकारी हेमराज खलखो, समाजिक कार्यकर्ता राजन सिंह सहित कई ग्रामीण उपस्थित थे.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: