Palamu

पलामूः ऑनलाइन ट्रेनिंग के लिये बनायी जायेगी  30-35 शिक्षकों की लर्निंग कम्युनिटी, एबिलिटी डेवलपमेंट पर जोर

पलामू में शिक्षकों के लिये ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया गया

Palamu: शिक्षकों के स्किल डेवलपमेंट के लिये पलामू में ऑनलाइन प्रशिक्षण का आयोजन किया गया. पलामू उपायुक्त शशि रंजन के निर्देश पर गुरूवार को प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया. कार्यक्रम का नाम ’इनेबलिंग डिजिटल फेसिलिटेशन स्किल्स एवं फेसिलिटेटिंग रिमोट लर्निंग कार्यक्रम’ रहा. इस दौरान शिक्षकों और स्कूलों में शिक्षण कार्य कैसे तकनीक के साथ सुगम रहें, इस पर बल दिया गया.

Jharkhand Rai

कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला शिक्षा पदाधिकारी उपेंद्र नारायण ने की. बता दें फेसिलिटेशन कार्यक्रम शिक्षा विभाग और पीरामल फाउंडेशन के तकनीकी सहयोग से आयोजित किया जा रहा है. इस दौरान पीरामल फांउडेशन के पलामू लिजा प्रभारी निलेश कुमार ने बताया कि यह प्रशिक्षण शिक्षकों को दीक्षा एवं निष्ठा प्रशिक्षण के ऑनलाइन कोर्स को सहज रूप से पूरा करने में मदद करेगा. शिक्षक स्किल्ड हो पायेंगे, तो सेल्फ एबिलिटी डेवपलमेंट की संभावनाएं खुलेंगी. उन्होंने एक मोड्यूल लाइव वेबिनार बेस्ड टीचिंग पर विस्तृत रूप से चर्चा की.

इसे भी पढ़ेंः DVC के बकाए राशि के रूप में केंद्र ने पहली किस्त में राज्य के हिस्से से काटे 1418 करोड़

लर्निंग कम्यूनिटी से प्रोफेशनल डवेलपमेंट आसान

शिक्षकों को बताया गया कि तकनीक वर्तमान समय में जरूरी है. और आने वाला समय तकनीक का है. आर्यन गर्ग ने बताया कि प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी के माध्यम से शिक्षकों का प्रोफेशनल डेवलपमेंट आसान हो जाता है. इस कार्यक्रम के तहत शिक्षकों को एकेडमिक एवं तकनीकी सहायता के लिए 30 से 35 शिक्षकों का प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी बनाया जायेगा.

मास्टर ट्रेनर की सहायता से प्रत्येक सप्ताह तीन दिन या हर दिन 2 घंटे शिक्षकों को अपने एबिलिटी डेवलपमेंट के लिये समय निर्धारित करेंगे. यह प्रशिक्षण ऑनलाइन होगा. इसलिए शिक्षकों को एक जगह पर जुटने अथवा जहां पर नेटवर्क नहीं है ऐसे में शिक्षकों को ऑफलाइन सहायता उपलब्ध करायी जा सकती है. ऑनलाइन कार्यक्रम को दो बैच में बांटा गया है. जिसमें 802 लोग उपस्थित होंगे. इन बैचों को प्रखंड स्तर पर बांटा गया है.

इसे भी पढ़ेंः उपचुनाव की सरगर्मीः NDA की चुनावी रणनीति पर चर्चा, कानून व्यवस्था पर हेमंत सरकार को घेरने की तैयारी

पूरे राज्य में 250 मास्टर ट्रेनर्स प्रशिक्षित होंगे

बता दें डिजिटल फैसिलिटेशन स्किल एंड फैसिलिटेटिंग रिमोट लर्निंग कार्यक्रम शिक्षा विभाग के मार्गदर्शन में जारी है. इसमें पीरामल फाउंडेशन के तकनीकी सहयोग से संचालित किया जा रहा है. पूरे राज्य में 250 मास्टर ट्रेनर्स को प्रशिक्षित किया जाएगा. इसके तहत 7000 शिक्षकों का निरन्तर एबिलिटी डेवलपमेंट किया जाना है.

इसे भी पढ़ेंः JSSPS कैडेट्स चंचला कुमारी राष्ट्रीय कुश्ती कैंप के लिए सेलेक्ट, ‘खेलो इंडिया’ के साइकिल एकेडमी के लिये चुनी गयी तारा

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: