JharkhandPalamu

Palamu : हेल्थमैप के मैनेजर, मेडॉल के कर्मचारी समेत 20 कोरोना संक्रमित, 462 पहुंचा आंकड़ा

विज्ञापन
Advertisement

Palamu : पलामू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में स्थित हेल्थमैप के मैनेजर और मेडॉल के एक कर्मी सहित 20 नये कोरोना संक्रमित पाये गये हैं. इसके साथ ही जिले में संक्रमितों की संख्या बढ़ कर 462 हो गयी है. हालांकि इसमें से 227 संक्रमित स्वस्थ हो चुके हैं और उन्हें कोविड अस्पताल से होम क्वारंटाइन में भेज दिया गया है.

इसे भी पढ़ें – नोटबंदी की तरह मोदी सरकार की नजर अब आपके घरों में रखे सोने पर

लैब सैनिटाइज कराये गये

मेदिनीनगर शहर से लेकर गांव तक लगातार कोरोना संक्रमण पांव पसार रहा है. इसकी चपेट में आनेवाले अधिकांश लोग फ्रंटलाइन वर्कर हैं. पलामू मेडिकल कॉलेज अस्पताल में पीपीपी मोड पर कार्य कर रहे हेल्थ मैप के स्थानीय मैनेजर व मेडॉल लैब के कर्मचारी समेत 20 नये कोरोना संक्रमित पाये गये. दोनों संस्थान से संक्रमित पाये जाने पर लैबों को सैनिटाइज कराया गया.

advt

जिले के सिविल सर्जन डॉ जॉन एफ कैनेडी ने इसकी पुष्टि की है. संक्रमित को इलाज के लिए पलामू मेडिकल कॉलेज स्थित कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया गया है. जानकारी के अनुसार शुक्रवार की रात रांची रिम्स स्थित लैब से जारी रिपोर्ट में पलामू के आठ लोग संक्रमित मिले. इसके अलावा 12 संक्रमितों की पुष्टि स्थानीय स्तर पर ट्रूनेट से जांच में हुई है.

मालूम हो कि पलामू में अब तक 462 कोरोना संक्रमितों की पुष्टि हो चुकी है. आयुष मंत्रालय की जारी गाइडलाइन के अनुसार उपचार के बाद 227 संक्रमित स्वस्थ हो चुके हैं. 14 दिनों की होम क्वारंटाइन की हिदायत के साथ स्वास्थ्य विभाग की ओर से संक्रमितों को घर भेजा जा चुका है. शेष संक्रमितों का उपचार कोविड केयर सेंटर में चल रहा है.

इसे भी पढ़ें – सुशांत सिंह केस: फिल्ममेकर रूमी जाफरी से पूछताछ करने पहुंची बिहार पुलिस, अबतक छह लोगों के बयान दर्ज

सिविल सर्जन ने बताया कि कोरोना संक्रमण की बढ़ रही संख्या से घबराने की जरूरत नहीं है. लोग कोरोना संक्रमण से बचाव से संबंधित सरकारी नियमों का पालन करें. घर से निकलने के बाद नियमित रूप से मास्क का प्रयोग करें. भीड़भाड़ वाले इलाके में जाने से बचें और शारीरिक दूरी का पालन करना भी बेहद जरूरी है. उन्होंने आम लोगों से अपील की है कि अगर जरूरी काम हो तो ही घरों से निकलें. कारण कि सावधानी ही कोरोना का बचाव है.

इसे भी पढ़ें – राज्यसभा सांसद अमर सिंह का निधन, सिंगापुर के एक अस्पताल में चल रहा था इलाज

advt
Advertisement

4 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close
%d bloggers like this: