Crime NewsJharkhandPakur

पाकुड़: कोल माफियाओं के इशारे पर ग्रामीण कर रहें कोयले की चोरी

विज्ञापन

Ranchi: पाकुड़ जिले में कोल माफियाओं के इशारे पर ग्रामीण कोयले की चोरी कर रहे हैं. जिले के अमड़ापाड़ा-पाकुड़ मार्ग पर कोयला चोरी का खेल नया नहीं है. पैनम कोल कंपनी के समय से शुरू हुए हाइवा और डंपरों से कोयला उतारने का सिलसिला आज भी जारी है.

पाकुड़ जिले के पचुवाड़ा कोल माइंस अलुबेड़ा से बीजीआर कंपनी द्वारा कोयला ट्रांसपोर्टिंग के दौरान कई स्थानों पर कोयला लोड वाहनों को जबरन रोककर ग्रामीणों द्वारा कोयला उतारा जाता है. हालांकि पुलिस प्रशासन ने दावा किया है कि कोयला चोरी पर काफी हद तक अंकुश लगी है. कोयला चोरी के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है. और इस दौरान पुलिस ने करीब एक हजार टन चोरी का कोयला भी जब्त किया है.

इसे भी पढ़ें- LIC ने फिर एक लगभग डूब चुकी यस बैंक का 105.98 करोड़ शेयर खरीदा

advt

कोल माफियाओं के इशारे पर हो रही कोयले की चोरी

पाकुड़ के अमड़ापाड़ा प्रखंड स्थित पचुवाड़ा नॉर्थ कोल ब्लॉक से पाकुड़ रेलवे साइडिंग तक हो रही कोयले की ढुलाई के दौरान कोयला चोरी हो रही है. हाल के दिनों में पुलिस की सख्ती बढ़ने के बाद कोयला चोरी पर थोड़ा लगाम तो जरूर लगा है लेकिन पूरी तरह से यह चोरी बंद नहीं हो पाई है.

जानकारी के अनुसार बनपोखरिया, सिलकुट्टी, पोचला, हरिणडूबा, शिवतल्ला, कोलाजोड़ा जैसे कई गांव में कोयला चोरी की घटनाएं अक्सर देखने को मिल रही है. गौरतलब है की कोयला माफियाओं के इशारे पर ग्रामीण कोयला की चोरी कर रहे हैं. ग्रामीणों से चोरी का कोयला कम दाम में खरीदा जाता है और फिर साइकिल में लोड कर बंगाल ले जाकर कोयला माफिया के द्वारा ज्यादा दामों में बेचा जाता है.

इसे भी पढ़ें- भारत में कोविड-19 के 61 हजार से अधिक नये केस, 933 मरीजों की मौत

जानिए कैसे होती है कोयला की चोरी

पाकुड़ के अमड़ापाड़ा प्रखंड स्थित पचुवाड़ा नॉर्थ कोल ब्लॉक से पाकुड़ रेलवे साइडिंग तक की दूरी करीब 55 किलोमीटर है. इस बीच रास्ते में कई गांव हैं. गांव के ग्रामीण कोयला लोड कर आ रहे हाइवा और डंपरों को रोककर कोयला उतार कर सड़क के किनारे जमा कर देते हैं. फिर कोयला माफिया के द्वारा चोरी के कोयले को ग्रामीणों से खरीद कर बंगाल ले जाकर बेच दिया जाता है.

adv

पुलिस ने करीब एक हजार टन कोयला किया बरामद

पाकुड़ एसपी मणिलाल मंडल ने बताया की चोरी के कोयले के खिलाफ पुलिस लगातार कारवाई कर रही है. इस दौरान पुलिस ने करीब एक हजार टन चोरी का कोयला जब्त किया है. एसपी मणिलाल मंडल ने बताया कि जिले में किसी भी तरह कोयला चोरी नहीं होने दी जायेगी. पुलिस प्रशासन इसके लिए व्यापक पैमाने पर कार्ययोजना तैयार कर लगातार कारवाई कर रही है. कोयला तस्करों पर लगाम लगाने के लिए पुलिस प्रशासन तैयार है.

इसे भी पढ़ें- भाजपा नेता के विवादित बयान:  जो मंदिर के बजाय अस्पताल की बात कर  रहे हैं, वे लोगों को बरगला रहे हैं

advt
Advertisement

6 Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button