न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भारत से मिलकर काम करना चाहता है पाकिस्तान , इमरान ने की प्रधानमंत्री मोदी से बात

दक्षिण एशिया में शांति, प्रगति और समृद्धि के लिए अपनी इच्छा दोहराते हुए इमरान ने कहा कि वे इन उद्देश्यों को आगे ले जाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के साथ मिलकर काम करने के प्रति आशान्वित हैं.

79

NewDelhi :   पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने रविवार को भारत के प्रधानमंत्री मोदी से फोन पर बात की और दोनों देशों के लोगों की बेहतरी के लिए मिलकर काम करने की अपनी इच्छा व्यक्त की. यहां विदेश कार्यालय ने यह जानकारी दी. लोकसभा चुनावों में प्रधानमंत्री मोदी की प्रचंड जीत पर इमरान ने पिछले दिनों ट्वीट करके भी बधाई दी थी. पाकिस्तान के विदेश कार्यालय के प्रवक्ता मोहम्मद फैसल ने कहा कि इमरान ने लोकसभा चुनावों में भाजपा की जीत पर मोदी को बधाई दी.

इसे भी पढ़ें-  पश्चिम बंगाल : भाजपा के उभरने से परेशान ममता बनर्जी कड़े फैसले लेने को तैयार, 31 को समीक्षा करेंगी

दोनों देश मिलकर काम करें

उन्होंने बताया कि दक्षिण एशिया में शांति, प्रगति और समृद्धि के लिए अपनी इच्छा दोहराते हुए इमरान ने कहा कि वे इन उद्देश्यों को आगे ले जाने के लिए प्रधानमंत्री मोदी के साथ मिलकर काम करने के प्रति आशान्वित हैं. फैसल ने कहा कि इमरान ने इच्छा जताई कि अपने लोगों की बेहतरी के लिए दोनों देश मिलकर काम करें. भारत के लोकसभा चुनावों के नतीजे पाकिस्तान के लिए काफी अहम हैं, क्योंकि नयी सरकार भारत-पाकिस्तान संबंधों के रुख को तय करेगी. पुलवामा आतंकी हमले के बाद दोनों देशों के संबंध बहुत खराब दौर से गुजर रहे हैं.

Related Posts

मोदी कैबिनेट ने रेलवे कर्मचारियों के 78 दिन के बोनस पर मुहर लगायी,  e-cigarette पर बैन 

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट बैठक में इन दोनों प्रमुख फैसलों पर मुहर लग गयी.

अप्रैल में इमरान ने कहा था कि यदि मोदी की पार्टी भाजपा आम चुनावों में दोबारा जीत हासिल करती है तो भारत के साथ शांति वार्ता और कश्मीर मुद्दा सुलझाने की बेहतर संभावनाएं होंगी. लोकसभा चुनावों के नतीजे आने से एक दिन पहले किर्गिस्तान के बिश्केक में शंघाई सहयोग संगठन परिषद के विदेश मंत्री स्तरीय सम्मेलन के इतर भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज और उनके पाकिस्तानी समकक्ष शाह महमूद कुरैशी ने एक-दूसरे का अभिवादन किया था.  कुरैशी ने वार्ता के जरिए सभी मुद्दों को सुलझाने के अपने इरादे से सुषमा को अवगत कराया था.

इसे भी पढ़ें- दस सालों में 44 प्रतिशत बढ़ी करोड़पति व आपराधिक पृष्ठभूमि वाले सांसदों की संख्या

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like

you're currently offline

%d bloggers like this: