NEWSWING
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पाकिस्तान : पेशावर में अवामी नेशनल पार्टी की चुनावी रैली में आत्मघाती हमला, 20 लोगों की मौत

316

Peshawar : पाकिस्तान के पेशावर शहर में मंगलवार रात भीड़भाड़ वाले याकतूत इलाके में एक चुनावी रैली में हुए आत्मघाती हमले में अवामी नेशनल पार्टी (एएनपी) के वरिष्ठ नेता हारून बिल्लौर सहित 20 लोगों के मारे जाने की खबर है. हमले में 65 लोग बुरी तरह घायल हुए हैं. घायल हुए लोगों को पास के लेडी रीडिंग अस्पताल भेजा गया. सूत्रों के अनुसार बिल्लौर के मंच पर पहुंचने पर वहां पटाखे चलाये जा रहे थे कि तभी एक आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया.

एएनपी के नेता बिल्लौर की मौत अस्पताल ले जाते समय हो गयी

डॉन अखबार के मुताबिक विस्फोट में बिल्लौर गंभीर रूप से घायल हो गये. उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां उन्होंने दम तोड़ दिया. घटना की जांच शुरू कर दी गयी है. बता दें कि पाकिस्तान में 25 जुलाई को आम चुनाव होने हैं. हारून खैबर पख्तूनख्वा विधानसभा की पीके-78 सीट से प्रत्याशी थे. साल 2012 में इसी तरह के हमले में हारून के पिता बशीर बिल्लौर की भी मौत हो गयी थी.

इसे भी पढ़ें- केरल : सीपीआई एम को याद आ गये भगवान राम, 15 जुलाई से 15 अगस्त तक रामायण पाठ की योजना

 

एएनपी पाकिस्तान की मुख्यधारा की पार्टी है

एएनपी पाकिस्तान की मुख्यधारा की पार्टी है जिसके अध्यक्ष अब्दुल गफ्फार खान के पोते असफंदयार वली खान हैं. 2008 से 2013 तक खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में सत्ता में रही एएनपी अपनी धर्मनिरपेक्ष नीति और आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर पहले भी तालिबान के हमले का शिकार हुई है. 2012 में पेशावर में ही पार्टी की एक बैठक के दौरान तालिबान के आत्मघाती हमलावर ने खुद को विस्फोट से उड़ा लिया था. चुनाव पूर्व किसी रैली पर किया गया यह दूसरा आतंकी हमला है.

हमले में आठ किलोग्राम टीएनटी विस्फोटक का इस्तेमाल हुआ

madhuranjan_add

बम निष्क्रिय दस्ते के प्रमुख शफकत मलिक के अनुसार हमले में आठ किलोग्राम टीएनटी विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया था. पाकिस्तान के मुख्य चुनाव आयुक्त मुहम्मद रजा ने घटना की निंदा करते हुए कहा कि यह हमारी सुरक्षा एजेंसियों की कमजोरी का प्रतीक है. इस घटना से नाराज एएनपी समर्थकों ने उनके नेता को सुरक्षा नहीं दे पाने के लिए सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया और नारेबाजी की. नेशनल काउंटर टेररिज्म अथॉरिटी के अनुसार पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ के प्रमुख इमरान खान समेत अन्य नेताओं को भी आतंकी संगठनों द्वारा जान से मारने की धमकी दी गयी है.

चुनाव में तीन लाख 71 हजार सैनिकों को तैनात करने की घोषणा

प्रशासन द्वारा नेताओं की सुरक्षा और शांतिपूर्वक मतदान कराने के लिए तीन लाख 71 हजार सैनिकों को तैनात करने की घोषणा की गयी है. हमले की निंदा करते हुए पाकिस्तान-तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी के मुखिया इमरान खान ने राजनीतिक पार्टियों और उनके उम्मीदवारों के लिए चुनावी कैंपेन के दौरान सुरक्षा की मांग की है. अभी तक किसी आतंकी संगठन ने इस हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Averon

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: