World

पाकिस्तान सदमे में, अमेरिका ने  30 करोड़ डॉलर की मदद रोकी  

Washington : अमेरिका द्वारा पाकिस्तान को दी जानेवाली 30 करोड़ डॉलर (2130 करोड़ रुपये से ज्यादा) की मदद रद्द कर दिये जाने से पाकिस्तान की इमरान सरकार सकते में है. खबरों के अनुसार आतंकियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने में नाकामयाब रहने के कारण पाकिस्तान को मदद रोक दी गयी है. बता दें कि अमेरिका के साथ पाकिस्तान के संबंध वर्तमान में तनावपूर्ण चल रहे हैं. इस नये फैसले के बाद द्विपक्षीय रिश्ते और भी कमजोर होने के कयास हैं.

Jharkhand Rai

बताया गया है कि कोलिशन सपॉर्ट फंड्स के नाम से दी जाने वाली रकम उस बड़ी धनराशि का हिस्सा थी जिस पर इस साल की शुरुआत में अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप ने रोक लगा दी थी. उस समय उन्होंने पाकिस्तान पर आरोप लगाया था कि वह मदद के बदले झूठ और धोखा करता आ रहा है. ट्रंप प्रशासन के अनुसार इस्लामाबाद आतंकियों को सुरक्षित पनाहगाह मुहैया करा रहा है.

लोकतंत्र में सबको बोलने की आजादी, पर देश तोड़ने की नहीं  : राजनाथ  सिंंह

आतंकियों की वजह से अमेरिका को अफगानिस्तान में परेशानी हो रही है

पाकिस्तान में आतंकियों के छिपने की वजह से अमेरिका को अफगानिस्तान में परेशानी हो रही है. वह 17 वर्षों से यहां लड़ाई लड़ रहा है. उसे कड़ी चुनौती का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि पाकिस्तान अमेरिका के इस आरोप से इनकार करता रहा है   अमेरिकी अधिकारियों के अनुसार पाकिस्तान अपना रवैया बदल दे तो वह  भरोसा जीत सकता है. बता दें कि अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मैटिस को यह फैसला लेना था कि आतंकियों के खिलाफ पाकिस्तान ने ठोस कदम उठाये हैं तो उसे 300 मिलियन डॉलर का फंड देने के आदेश दिये जा सकते हैं. हालांकि अमेरिकी अधिकारियों के अनुसार मैटिस पाकिस्तान की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं हैं.

Samford
इसे भी पढ़ेंः मनगढ़ंत है पत्र और अपराधी बताने की साजिश: सुधा भारद्वाज

कांग्रेस की मंजूरी मिलने पर पेंटागन इस धनराशि को दूसरी मद में खर्च करेगा

पेंटागन के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल कोन फॉकनर ने कहा है कि दक्षिण एशिया स्ट्रैटिजी के पक्ष में पाकिस्तान द्वारा ठोस कार्रवाई न करने के कारण बची हुई 30 करोड़ डॉलर की मदद रोकी गयी है. फॉकनर के अनुसार अगर कांग्रेस की मंजूरी मिलने पर पेंटागन इस धनराशि को दूसरी जरूरी मदों में खर्च करेगा. बताया कि पाकिस्तान को मिलने वाली कुल 80 करोड़ डॉलर की मदद रोकी गयी थी.  यह खबर ऐसे समय में आयी है, जब अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो और दूसरे टॉप सैन्य अफसर अगले कुछ दिनों में इस्लामाबाद जाने वाले हैं.

इसे भी पढ़ेंः 15 दिनों में 372 ताबड़तोड़ तबादलों पर जनता के खर्च हुए लगभग डेढ़ करोड़

 

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: