JharkhandPakur

पाकुड़ : पचुवारा सेंट्रल कोल ब्लॉक परियोजना के सिम में पांच हफ्तों से फैली है आग 

Pakud : जिले के अमड़ापाड़ा में वर्षों से बंद पड़ी पचुवारा सेंट्रल कोल ब्लॉक परियोजना के सिम में पिछले चार पांच सप्ताह से आग लगी होने की खबर आई है. उल्लेखनीय है कि इस सिम में करीब साठ करोड़ टन कोल रिजर्व है.

इसे भी पढ़ें- दर्द-ए-पारा शिक्षक: फॉरेस्ट डिपार्टमेंट की नौकरी छोड़ बने पारा शिक्षक, अब मानदेय के अभाव में बने…

advt

काबू नहीं पाया गया तो झरिया बन सकता है क्षेत्र

पहले भी इस कोल ब्लॉक परियोजना के सिम में वर्ष 2015 तथा 2016 में आग लग चुकी है. जिसे उस वक्त बड़ी मुश्किल से बुझाया जा सका था. जानकार लोगों के मुताबिक कोल सिम में लगी आग अंदर ही अंदर फैल रही है. जल्द ही अगर इस पर काबू नहीं पाया गया तो आने वाले दिनों में यह क्षेत्र भी झरिया की तरह बन सकता है.

आग लगने के बावजूद ग्रामीण बगल से कोयला खोद रहे हैं. जो कि ग्रामीणों के लिए ना सिर्फ खतरनाक है बल्कि इससे उनकी जान भी जा सकती है. जरुरत है प्रशासन को जल्द से जल्द कार्रवाई करने की ताकि किसी भी तरह की बड़ी घटना को होने से टाला जा सके.

इसे भी पढ़ें- गुमला में नक्सलियों का तांडवः पुलिस मुखबिरी के आरोप में व्यापारी की अगवा कर हत्या, ट्रक भी फूंका

adv

क्या कहते हैं जिला खनन पदाधिकारी

इस संबंध में जिला खनन पदाधिकारी उत्तम कुमार विश्वास ने कहा कि उन्हें इसकी जानकारी मिली है और उन्होंने तुरंत पट्टाधारी पंजाब स्टेट पावर कारपोरेशन लिमिटेड के अधिकारियों को पत्र भेज कर अविलंब सभी जरूरी कदम उठाने को कहा है.

उन्होंने यह भी कहा कि कोल सिम अथवा रिजर्व में इस तरह की आग का लगना एक सामान्य प्राकृतिक व स्वाभाविक प्रक्रिया है. इसे लेकर बहुत ज्यादा चिंतित होने की आवश्यकता नहीं है.

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close