न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पाक पीएम इमरान ने फिर अलापा अल्पसंख्यकों से बराबरी के बर्ताव का राग, कैफ ने दिया करारा जवाब

1,902

New Delhi: पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने एकबार फिर भारत पर निशाना साधते हुए अल्पसंख्यकों से बराबरी का व्यवहार करने की बात कही है. एक सप्ताह के भीतर दूसरी बार अपने देश के मसलों को छोड़ इमरान खान भारत को नसीहत देते नजर आये. भारत में अल्पसंख्यकों की हालात की तुलना करते हुए कहा कि भारत में जो हो रहा है उसकी तुलना में ‘नये पाकिस्तान’ में अल्पसंख्यकों को बराबरी का दर्जा मिलेगा.

पाकिस्तान के संस्थापक जिन्ना की जयंती पर इमरान ने फिर भारत को अल्पसंख्यकों के मामले पर पाकिस्तान से सीखने की नसीहत दे डाली. इससे पहले भी बड़बोले इमरान को भारत की ओर से करारा जवाब मिला था, और इस बार भी मिला है. इस बार पाकिस्तान के पीएम को जवाब क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने दिया है.

इमरान ने ट्वीट कर दी नसीहत

पाकिस्तान के संस्थापक मोहम्मद अली जिन्ना की जयंती के मौके पर मंगलवार को खान ने कहा कि जिन्ना ने पाकिस्तान के लोकतांत्रिक, न्यायपूर्ण और सद्भावनापूर्ण राष्ट्र बनने का सपना देखा था. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘नया पाकिस्तान कायद (जिन्ना) का पाकिस्तान होगा और सुनिश्चित करेगा कि हमारे अल्पसंख्यकों के साथ बराबरी का व्यवहार हो और भारत जैसा कुछ ना हो.’’

उन्होंने कहा कि जिन्ना चाहते थे कि अल्संख्यक भी बराबरी का दर्जा पाएं. यह याद रखा जाना चाहिए कि उनका शुरुआती राजनीतिक जीवन हिन्दू-मुसलमान एकता के लिए था. खान ने कहा कि पृथक मुसलमान राष्ट्र के लिए संघर्ष उस वक्त शुरू हुआ जब उन्हें एहसास हुआ कि हिन्दू बहुलता वाले देश में मुसलमानों के साथ बराबरी का व्यवहार नहीं होगा.

Related Posts

कश्मीर में अपना चॉपर MI-17V5 मार गिराने वाले  वायुसेना  के पांच अधिकारी दोषी करार

ये अधिकारी 27 फरवरी को श्रीनगर में अपने ही हेलिकॉप्टर पर फायरिंग करने के मामले में दोषी माने गये हैं

SMILE

मोहम्मद कैफ ने दिया करारा जवाब

इस बार इमरान खान को उनकी नसीहत पर जवाब भारत के पूर्व क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने दिया है. कैफ ने इमरान के बयान को कोट करते हुए ट्वीट किया, ”बंटवांरे के वक्त पाकिस्तान में 20 प्रतिशत अल्पसंख्यक थे, जो कि घटकर अब सिर्फ 2 प्रतिशत रह गए हैं. जबकि दूसरी तरफ आज़ादी के बाद से भारत में लगातार अल्पसंख्यकों की आबादी बढ़ी है. पाकिस्तान अल्पसंख्यकों के साथ बर्ताव पर लेक्चर देने वाला सबसे आखिरी देश होना चाहिए.”

उल्लेखनीय है कि इससे पहले अभिनेता नसीरुद्दीन शाह के असहिष्णुता वाले बयान का समर्थन करते हुए इमरान खान ने भारत के खिलाफ टिप्पणी की थी. और अल्पसंख्यकों के साथ होनेवाले बराबरी के बर्ताव को दिखाने की बात कही थी. हालांकि, उस वक्त नसीर ने खुद पाकिस्तान के पीएम को जवाब देते हुए कहा था कि आप अपने मुल्क की चिंता करें. हमारे मसले हम सुलझा लेंगे.

इसे भी पढ़ेंःक्रिसमस की छुट्टी के दिन तीन आइएएस बदले, दो को अतिरिक्त प्रभार

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: