GiridihJharkhandKoderma

गिरिडीह में कैटरर और कोडरमा में गृहिणी ने की आत्महत्या, लॉकडाउन में काम न मिलने से आर्थिक तंगी में था कैटरर  

Giridih/Koderma :  गिरिडीह शहर के कुटिया गली में शनिवार की सुबह कैटरर सुशील पारिख ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. 61 साले सुशील पारिख सवभाव से हंसमुख थे. लिहाज़ा, कैटरर की आत्महत्या किए जाने की बात मुहल्ले के लोग समझ नहीं पा रहे हैं.

पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. मृतक की पत्नी ने कहा कि पारिक अहले सुबह जाग गये थे. और मॉर्निंग वॉक पर जाने की बात कह रहे थे. इसके बाद पत्नी सो गयी. इस बीच पारिख ने वॉक पर जाकर आत्महत्या कर ली.

इसे भी पढ़ेंः वर्ल्ड हैपीनेस रिपोर्ट-2021: फिनलैंड सबसे खुशहाल देश, भारत 139वें पायदान पर

Catalyst IAS
ram janam hospital

पत्नी जब सुबह आठ बजे उठी, तो देखा कि पति का शव रस्सी  के सहारे झूल रहा है. पारिख शहर में कैटरर का काम करते थे. लेकिन पिछले कुछ महीनों से राजस्थान के जयपुर में रहकर मिठाई बनाने का काम किया करते थे. लॉकडाउन के बाद गिरिडीह में रह रहे थे. पत्नी और बेटे की मानें तो लॉकडाउन के कारण परिवार की आर्थिक हालत खराब थी. गिरिडीह लौटने के बाद काम नहीं मिलने से मृतक पर काफी कर्ज भी हो चुका था.

The Royal’s
Sanjeevani

इसे भी पढ़ेंः अमेरिका में 47 प्रतिशत छात्र केवल भारत और चीन से: रिपोर्ट

सल्फास खाकर महिला ने जीवन लीला की

इधर, कोडरमा, पांडु मे एक महिला ने जहर खाकर आत्महत्या कर ली. मृतका की पहचान संगीता देवी (उम्र 19 वर्ष पति अनिल यादव, ग्राम पांडु जयनगर) के रूप मे हुई है. पुलिस ने शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेजा. जानकारी के अनुसार घरेलू विवाद से तंग आकर महिला ने जहर कर आत्महत्या कर ली.

मृतक के परिजनों ने बताया है कि मई 2020 को उसकी शादी धूमधाम से अनिल यादव के साथ हुई थी. घरेलू विवाद को लेकर पति मारता पीटता रहता था. पति और ससुर घर से फरार हैं.

इसे भी पढ़ेंः Coronavirus Updates: कोरोना ने चिंता बढ़ायी चिंता, पर राहत भी, जानें कैसे

Related Articles

Back to top button