Jamshedpur

धरती आबा की जयंती पर की पदयात्रा, नन्ही पारी मुर्मू रही आकर्षण का केन्द्र

Jamshedpuur : धरती आबा भगवान बिरसा मुंडा की जयंती पर सरायकेला के डुबाडीह से छह दिनों तक (सहिया) पदयात्रा की गई. यह पदयात्रा सरायकेला के डुबाडीह, राजनगर, बुरकुली, बुरुडीह, गम्हरिया और आदित्यपुर होते सहिया साकची बिरसा चौक पहुंचे. वीर शाहिद बिरसा मुंडा को श्रद्धांजलि दी गई. साकची पहुंचने पर विष्णु सिंह मुंडा, जय नारायण मुंडा, गीता सुंडी, दिनकर कच्छप और राजू बेसरा के नेतृत्व में लोगों ने पदयात्रा में शामिल लोगों का स्वागत किया. इस पदयात्रा का मुख्य केंद्र 11 वर्षीय नन्ही बच्ची पारी मुर्मू रही. विष्णु सिंह मुंडा ने कहा कि पारी सच की हमारे समाज की परी और प्रेरणाश्रोत है. उसके जज़्बे को सलाम जो छह दिनों तक बारिश में भी इस पदयात्रा में चलती रहीं.

जीतराई ने किया नेतृत्व

पदयात्रा का नेतृत्व कर रहे जीतराई हांसदा ने कहा कि समाज सेवा के लिए संसाधनों और आर्थिक तंगी कभी अड़चन नहीं बनती. समाज के लोगों के समर्थन के कारण ही परेशानियों के बावजूद इस पदयात्रा का सफल आयोजन किया गया. इसका मुख्य उद्देश्य आपसी भाईचारगी को बढ़ाने, सुख शांति बहाल करने और झारखंड एवं आदिवासियों की संस्कृति, भाषा, आस्था, और यहां की प्राकृतिक संसाधनों की रक्षा करना है. गर्व की बात यह है कि पुरुष प्रधान समाज में इस पदयात्रा के लिए स्त्रीलिंग शब्द का चयन किया गया और इस पदयात्रा का नाम “सहिया” दिया है. आदिवासी समाज अमन पसंद और प्रकृति का पुजारी हैं. समाज के लोगों मन हवा और पानी की तरह शुद्ध है और सबको सहन करने की क्षमता है. भगवान बिरसा की जयंती पर समाज के लोगों ने संकल्प लिया कि राज्य की साहित्य, भाषा, संस्कृति एवं प्राकृतिक संसाधनों को बचाने की हर संभव प्रयास करेंगे. ताकि झारखंड को समृद्ध, शिक्षित और विकसित राज्य बनाया जा सके.

Catalyst IAS
ram janam hospital

पदयात्रा में ये थे शामिल

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

इस पद यात्रा में सबन बारला, बृद्धन मुर्मू, डोमेन मुर्मू, सोमाय मार्डी, राजू बेसरा, गीता सुंडी, दिनकर कच्छप, अम्बिका यादव, शारदा देवी, पारी मुर्मू, हरेन्द्रनाथ हँसदा, उमा मुर्मू, जय नारायण मुंडा, बसंती मुर्मू डुमनी मुर्मू, रश्मि मुर्मू, सुखी मुर्मू, गणेश मुर्मू, रैमत मुर्मू, सुमि किस्कु, माया देवी, मैना मुर्मू, सुसनी मुर्मू, सीता मांझी, लकी मुर्मू, बसंती मुर्मू, धनी मुर्मू, पिंकी सोरेन, बिसु सिंह मुंडा, गोपाल मुर्मू, सनादा बास्के आदि शामिल थे.

इसे भी पढ़ें- चाची और भाभी ने किशोरी पर किया धारदार हथियार से हमला, मां लहूलुहान अवस्था में लेकर पहुंची थाना

 

Related Articles

Back to top button