National

पी  चिदंबरम की  गिरफ्तारी मोदी सरकार का राजनीतिक षड्यंत्र, कुछ मीडिया चैनल सरकार की कठपुतली : कांग्रेस   

NewDelhi : पूर्व वित्त मंत्री पी  चिदंबरम की  गिरफ्तारी से गुस्सायी कांग्रेस मोदी सरकार पर हमलावर हो गयी है. जान लें कि कांग्रेस  ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर  पी  चिदंबरम की  गिरफ्तारी को  राजनीतिक षड्यंत्र और व्यक्तिगत बदले से प्रेरित करार दिया है.  कांग्रेस ने इस  प्रकरण पर मीडिया की भूमिका पर भी सवाल उठाये हैं. आरोप लगाया  है कि  कुछ चैनल सरकार की कठपुतली बनकर काम कर रहे हैं.

इस क्रम में कांग्रेस ने कहा कि गिरती अर्थव्यवस्था, नौकरियों का खत्म होना और रुपये का लगातार अवमूल्यन से देश का ध्यान हटाने के लिए मोदी सरकार ने यह खेल रचा है.  कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सत्यमेव जयते का नारा देते हुए कहा कि जांच के बाद सच आखिरकार सामने आ जायेगा.

इसे भी पढ़ें –  झारखंड कैडर के आईएएस अधिकारी केंद्रीय गृह सचिव राजीव गौबा अब नये कैबिनेट सचिव होंगे

प्रजातंत्र की दिन-दहाड़े हत्या

सुरजेवाला ने चिदंबरम की गिरफ्तारी पर सवाल उठाते हुए कहा, मोदी सरकार बनने के छह साल बाद 10 साल पुराने केस में दुर्भावनापूर्ण तरीके से फंसाया जा रहा है. जेल में बंद इंद्राणी मुखर्जी के बयान को आधार बनाया गया है जिस पर अपनी पुत्री की हत्या का आरोप है. कहा कि 40 साल के बेदाग राजनीतिक जीवन और सार्वजनिक शुचिता को धूमिल करने के लिए मोदी सरकार ने यह दुर्भावनापूर्ण कैंपेन चलाया है. यह प्रजातंत्र की दिन-दहाड़े और कभी-कभी रात को भी हत्या होते देखा गया है.

इसे भी पढ़ें – आर्थिक बदहाली के बावजूद राजनीतिक कामयाबी के खतरनाक मायने क्या हैं

बदला लेने की एजेंसी बन गयी है सीबीआई

सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि सीबीआई केंद्र में मोदी सरकार के नेतृत्व में राजनीतिक बदला लेने की एजेंसी बन चुकी है.  अपने राजनीतिक आकाओं को खुश करने के लिए सीबीआई के अधिकारियों  ने रात में दीवाल फांदकर कांग्रेस नेता के घर में प्रवेश किया और उन्हें अरेस्ट किया.  देश का ध्यान मंदी से हटाने का आरोप लगात हुए उन्होंने कहा कि आज पूरे देश में भयानक स्तर पर मंदी है और लाखों की संख्या में रोजगार जा रहा है.  हमारा रुपया एशिया का सबसे बुरा प्रदर्शन करनेवाला करंसी बन चुका है.

इंद्राणी मुखर्जी से क्या डील हुई

कांग्रेस ने कहा, जेल में बंद इंद्राणी मुखर्जी की इस गवाही देने के बदले क्या डील हुई है, देश यह जानना चाहता है.  श्री चिदंबरम और उनके पुत्र का आईएनएक्स मीडिया केस से कोई लेना-देना है, इसका एक सबूत नहीं मिल सका.  चार्जशीट में श्री चिदंबरम और उनके पुत्र तथा लोकसभा सांसद कार्ति चिदंबरम के खिलाफ एक पुख्ता सबूत का जिक्र नहीं किया गया है.   सुरजेवाला ने कहा, भाजपा की प्रॉपगैंडा मशीन  मिथ्या प्रचार में जुटी है.

सुरजेवाला ने  कुछ सवाल उठाये.  कहा कि  चिंदबरम और उनके बेटे 20 बार से अधिक ईडी और सीबीआई के सामने पेश हो चुके हैं.  आज तक सबूत का एक शब्द भी जनता के समक्ष जांच एजेंसियां पेश नहीं कर सकीं.  सब जानते हैं कि यह केस 12 साल पुराना है.  इसमें अब गिरफ्तारी का क्या औचित्य है?  छह साल से मोदी सरकार ने पूरा जोर लगा लिया, लेकिन सबूत का एक कतरा भी नहीं ला सके.

इसे भी पढ़ें –  गिरफ्तारी के बाद रातभर चिदंबरम से किया गया सवाल, आज कोर्ट में होगी पेशी

Related Articles

Back to top button