न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

BCCL के निजी वाहन मालिकों ने किया चक्का जाम, सामूहिक आत्मदाह की चेतावनी

कांट्रैक्ट एग्रीमेंट पांच वर्षों के लिए रिन्यूअल करने और गाड़ियों को दो वर्ष का एक्सटेंशन देने की मांग

823

Dhanbad : बीसीसीएल में आउटसोर्सिंग में चलने वाले निजी वाहन मालिकों और चालकों ने सोमवार से कोयलांचल वाहन ऑनर एसोसिएशन के बैनर तले चक्का जाम आंदोलन शुरू कर दिया है.

 

बीसीसीएल के सभी एरिया (1 से 12) तक में चल रही करीब 425 गाड़ियों के साथ वाहन मालिकों और चालकों ने बीसीसीएल मुख्यालय पर डेरा डाल दिया है. उन वाहनों में कई एम्बुलेंस भी शामिल हैं. इस चक्का जाम आंदोलन के तहत वाहन मालिकों ने एम्बुलेंस की सेवा भी बाधित कर रखी है. यह बीसीसीएल प्रबंधन के लिए बड़ी मुसीबत बन सकती है.

इसे भी पढ़ें : सड़क पर 10-10 रुपये के नोट गिरा कर ठेकेदार के 4 लाख रुपये ले उड़े चोर

इन दो मांगों को लेकर आंदोलन 

वाहन मालिक मुख्यतः दो प्रमुख मांगों को लेकर आंदोलन पर हैं. एक, एसओआर कॉन्ट्रैक्ट अग्रीमेंट को अगले पांच वर्षों के लिए रिनुअल करना और दूसरा, वर्तमान में कंपनी में चल रही गाड़ियों को अगले दो वर्षों के लिए एक्सटेंशन देना.

एसोसिएशन के अध्यक्ष उदय शंकर दुबे ने कहा कि बीसीसीएल प्रबंधन कहता है कि एसोसिएशन की मांगों को बोर्ड में रखा गया है, सभी मांगें बोर्ड से पारित होंगी. बार-बार प्रबंधन को पत्राचार करके मांगो से अवगत कराया जा रहा है. पर मांगों पर कोई पहल नही हो रही.

SMILE

इसे भी पढ़ें : धोनी की ख्वाहिश ! रिटायरमेंट के बाद सैनिक के रूप में  सियाचिन में पोस्टिंग मिले

‘काम ठप किया जायेगा’

उपरोक्त मांगें पूरी नही होने की स्थिति में वाहन मालिक बेरोजगार हो जायेंगे. कई वाहन मालिक बैंक से कर्ज लेकर गाड़ियां बीसीसीएल में चला रहे हैं. इस परिस्थिति में सभी की जीविका खतरे में आ जायेगी.

दुबे ने कहा कि इस चक्का जाम के बाद भी अगर कोई निर्णय नही होता है तो बीसीसीएल का काम ठप किया जायेगा और 21 जुलाई को इसी बीसीसीएल मुख्यालय पर वाहन मालिक सामूहिक रूप से आत्मदाह करेंगे.

इसे भी पढ़ें : गढ़वा : जिस महिला की हत्या की हुई थी FIR, वह निकली जिंदा

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: