Education & CareerRanchi

35,447 स्कूलों में से 15,653 में नहीं है खेल का मैदान, फिर भी फिजिकल इंस्ट्रक्टर बहाली की हो रही तैयारी

Ranchi: राज्य में 35,447 स्कूल में से 15,653 स्कूलों में खेल का मैदान नहीं है. पर इन स्कूलों में फिजिकल इंस्ट्रक्टर की नियुक्ति की प्रक्रिया शिक्षा विभाग कर रहा है. अभी 35 हजार स्कूल में 200 ही फिजिकल इंस्ट्रक्टर हैं. शिक्षा विभाग की ओर से मुख्यमंत्री को भेजे गये प्रस्ताव को मंजूरी मिलती है, तो नियुक्ति की प्रक्रिया भी शुरू हो जायेगी. विभाग का आकलन है कि इस नियुक्ति प्रक्रिया से लगभग 35 हजार बीपीएड की शिक्षा लिए हुए उम्मीदवारों को लाभ होने वाला है.

Jharkhand Rai

इसे भी पढ़ेंः राजद नेता तेजस्वी यादव ने राघोपुर विधानसभा से नामांकन दाखिल किया, सीएम नीतीश कुमार को ललकारा  

गठित कमिटी की रिपोर्ट के बाद जगी उम्मीद

खेल और फिजिकल एजुकेशन को पूरी शिक्षा प्रक्रिया से कैसे जोड़ा जाये, इसकी प्लानिंग के लिए एक कमिटी बनायी गयी थी. इस कमिटी ने अपनी रिपोर्ट शिक्षा विभाग को दी है. विभागीय सूत्रों की मानें तो इस प्रस्ताव में फिजिकल ट्रेनर की नियुक्ति करने की बात कही गयी है. कमिटी के इसी प्रस्ताव से उम्मीद जगी है कि फिजिकल इंस्ट्रक्टर की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू होगी.

नये सत्र से फिजिकल एजुकेशन की होगी पढ़ाई

कमिटी की रिपोर्ट में क्या कुछ सिफारिश की गयी है, इसका विस्तृत ब्योरा तो नहीं मिला है पर इसमें नये शैक्षणिक सत्र (2021-22) से स्कूलों में फिजिकल एजुकेशन की पढ़ाई शुरू करने की बात कही गयी है. फिजिकल एजुकेशन की पढ़ाई कराने के लिए टीचर्स की जरूरत होगी. जानकारी के मुताबिक, जब तक टीचर्स की नियुक्ति नहीं हो जाती है तब तक स्कूल के ही किसी शिक्षक को नोडल अधिकारी बनाया जायेगा.

Samford

कमेटी ने प्लस टू में इसे वैकल्पिक विषय बनाने की सलाह दी है. यानी बच्चों को मैट्रिक तक हर हाल में खेल के साथ-साथ अन्य शारीरिक गतिविधियों में भी अनिवार्य रूप से शामिल होना होगा.

इसे भी पढ़ेंः RIMS GB मीटिंग के पहले सदस्य प्रतुल शाहदेव से पुलिसकर्मी की झड़प

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: