JharkhandLead NewsRanchi

झारखंड की दीदी बगिया योजना को दूसरे राज्य भी अपनायें : एनएन सिन्हा

केंद्रीय ग्रामीण विकास सचिव ने इंटीग्रेटेड फार्मिंग कलस्टर पहल का किया राष्ट्रीय शुभारंभ

Ranchi : केंद्रीय ग्रामीण विकास सचिव एनएन सिन्हा ने झारखंड के सखी मंडलों के जरिये आजीविका सशक्तीकरण के लिए किए जा रहे कार्यो की सराहना की और दूसरे राज्यों को भी आजीविका संसाधन केंद्र एवं दीदी बगिया योजना समेत अन्य गतिवधियों को अपने राज्यों में लागू करने को निर्देशित किया. केंद्रीय ग्रामीण विकास सचिव ने ये बातें रांची में राज्य ग्रामीण विकास संस्थान हेहल में दीनदयाल अंत्योदय योजना राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अंतर्गत इंटिग्रेटेड फार्मिंग कलस्टर संबंधी जेएसएलपीएस के तहत आयोजित कार्यशाला शुभारंभ करते हुए कही.

एनएन सिन्हा ने सुदूर गांव के आखिरी परिवारों को सशक्त आजीविका से जोड़ने के लिए राज्य स्तर से सभी विभागों से समन्वय स्थापित करने को कहा ताकि लाभुकों को इंटीग्रेटेड रूप से सभी योजनाओं का लाभ मिल सके.

उन्होंने एनआरईटीपी राज्यों को माइक्रो प्लानिंग को प्रभावी तरीके से करने की सलाह दी ताकि इस पहल से ग्रामीण समुदाय को लाभ मिल सके.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें :News wing impact : संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा के लिए अब लगेंगे केवल 100 रुपये

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

कलस्टर लेवल फेडरेशन को और सशक्त करें

उन्होंने कहा कि सखी मंडलों के संगठन कलस्टर लेवल फेडरेशन को और सशक्त करें ताकि आने वाले दिनों में वो मॉडल के रूप में विकसित हो. इससे आजीविका एवं सामाजिक समावेशन को गति मिल सके.

उन्होंने सभी राज्यों से प्रोड्यूसर इंटरप्राइज के कार्यो में तेजी लाने की बात कही. उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में कलस्टर लेबल फेडरेशन के जरिये मनरेगा के क्रियान्वयन की तैयारी है जिसके लिए इन संगठनों को और सशक्त बनाने की जरूरत है.

एनएन सिन्हा ने महिला संगठनों को पंचायती राज संस्थाओं,सरकार के विभाग एवं सिविल सोसाइटी के साथ मिलकर कार्य करने को कहा. इससे ही बड़े स्तर पर गरीबी उन्मुलन का सपना सार्थक होगा. सिन्हा ने मनरेगा पार्क का भी निरीक्षण किया.

इसे भी पढ़ें:BIG NEWS : हर राशनकार्डधारी को मिलेगा आयुष्मान भारत-सीएम जन आरोग्य योजना का लाभ

पहल से सखी मंडल के बहनों की आजीविका बढ़ेगी : डॉ.मनीष रंजन

ग्रामीण विकास सचिव डॉ.मनीष रंजन ने झारखंड में आजीविका की गतिविधियों पर अनुभव साझा करते हुए कहा कि टपक सिंचाई से महिलाओें की आय दोगुनी हुई है और मल्टी-क्रापिंग और पशुपालन से लोगों की आमदनी में इफाफा हो रहा है.

उन्होंने कहा कि विभिन्न कैडरों का क्षमतावर्धन,पीवीटीजी परिवारों को सशक्त वित्तीय समावेशन,महिलाओं को विभिन्न स्किल की गतिविधियों से जोड़ना हमारी प्राथमिकता है.

इसे भी पढ़ें:लातेहार : पुलिस को उड़ाने की नक्सली साजिश नाकाम, 25 सीरीज टिफिन बम बरामद

पलाश एवं आदिवा की पहल से दूसरे राज्य प्रेरणा लें: चरणजीत सिंह

इंटीग्रेटेड फार्मिग कलस्टर के बारे में विस्तार से बात करते हुए ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार के संयुक्त सचिव चरणजीत सिंह ने बताया कि किसानों को एंड टू एंड सॉल्यूशन प्रदान करना है.

उन्होंने झारखंड के पलाश ब्राड एवं आदिवा ब्रांड की तारीफ की एवं अन्य राज्यों को झारखंड की इस पहल से सीख लेने को कहा.

इसे भी पढ़ें :हेमंत सरकार के दो वर्ष पूरे होने को विश्वासघात दिवस के रूप में मनायेगी आजसू पार्टी

महिलाओं के कलस्टर लेवल फेडरेशन को सशक्त बनायें: नीता केजरीवाल

ग्रामीण विकास मंत्रालय की संयुक्त सचिव नीता केजरीवाल ने नेशनल रूरल इकोनॉथ्मक ट्रास्फोरमेशन प्रोजेक्ट की प्रगति पर संतोष जताते हुए मॉडल सीएलएफ के कार्यों में तेजी लाते हुए सशक्त् बनाने की बात कही.

उन्होंने सीएलएफरण नीति,एनआरईटीपी राज्यों में एनपीए प्रवृति,वित्तीय समावेशन,डिजिटल वित्त बीमा, कृषि आजीविकास आदि के लक्ष्य पाने को कहा.

सखी मंडलों को मिलेगा इंटीग्रेटेड फार्मिँग कलस्टर का लाभ:नैंसी सहाय

झारखंड स्टेट लाईवलीहुड प्रमोशन सोसाइटी की सीइओ नैंसी सहाय ने कहा कि आईएफसी के क्रियान्वयन को समय पर पूरा किया जायेगा. इंटीग्रेटेड फार्मिँग कलस्टर का लाभ सखी मंडलों को मिलेगा.

इस पहल से सखी मंडल की महिलाओं को एक साथ आजीविका के कई साधनों से जुड़ने का मौका मिलेगा. आमदनी में बढ़ोतरी के लिए ही कार्य किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें:तीसरा बच्चा पैदा करने की चुकाने पड़ी बड़ी कीमत, चाईबासा नगर परिषद के वार्ड पार्षद विप्लव कुमार हटाये गये

Related Articles

Back to top button