Bihar

सीएम समेत दूसरे मंत्रियों के बंगले की भी हो जांच: कुशवाहा

Patna: बिहार की राजनीति में इनदिनों बंगले की सियासत गरमायी हुई है. वहीं राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने बिहार सरकार पर बंगले को लेकर सियासत करने का आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार शिक्षा, स्वास्थ्य और किसानों के मुद्दों से लोगों को भटकाने में लगी है.

बंगले का सुख क्यों भोग रहे सुशील मोदी

गुरुवार को कुशवाहा ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी कर आरोप लगाया कि बिहार सरकार शिक्षा, स्वास्थ्य और किसानों के मुद्दों से लोगों का ध्यान भटका कर राजद नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी प्रसा यादव के बंगले को मुद्दा बना रही है. उन्होंने कहा कि जिस सरकारी बंगले को लेकर बिहार सरकार और उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी हायतौबा मचा रहे हैं, क्या वह बताएंगे कि जिस बंगले को वे सेवन स्टार कह रहे हैं, वे उस बंगले का सुख क्यों भोग रहे हैं.

सुशील मोदी को देना चाहिए इस्तीफा

कुशवाहा ने सुशील मोदी की कड़े शब्दों में आलोचना करते हुए कहा कि वित्त मंत्री तो तेजस्वी यादव नहीं हैं और उनका सरकारी बंगले पर खर्च सरकारी प्रक्रिया के तहत ही हुआ होगा. खर्च का सालाना ऑडिट होता है, इसलिए गड़बड़ी हो रही थी तो सरकार ने तब आपत्ति क्यों नहीं की.

advt

उन्होंने कहा कि सुशील मोदी खुद वित्त मंत्री भी हैं और अगर वे वित्तीय गड़बड़ी की बात कर रहे हैं तो नाकामी उनकी है. इसलिए उनको तत्काल अपना पद छोड़ देना चाहिए.

कुशवाहा ने कहा कि उनकी पार्टी का मानना है कि अगर तेजस्वी यादव ने सरकारी बंगले के रख-रखाव में सरकारी नियमों की अनदेखी की है, तो सरकार के दूसरे मंत्रियों-संतरियों ने भी इस तरह की गड़बड़ी की होगी.

सीएम दूसरे मंत्रियों के बंगले की भी हो जांच

उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि सुशासन का दावा करने वालों की नैतिकता अब सवालों में है और हम मांग करते हैं कि सिर्फ तेजस्वी यादव ही नहीं मुख्यमंत्री सहित दूसरे मंत्रियों के विभागों की जांच हो. कुशवाहा ने कहा कि नीतीश कुमार सहित दूसरे मंत्रियों के बंगले और उसके रख-रखाव की तस्वीरें दिखाने की छूट सरकार मीडिया को दे ताकि सच सामने आ सके.

उन्होंने मांग की कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के सरकारी आवास पर 2005 से अब तक कितना खर्च हुआ है, इसका ब्योरा सार्वजनिक किया जाए. ताकि सच जनता के सामने आ सके.

adv

ज्ञात हो कि बिहार की पिछली महागठबंधन सरकार में उपमुख्यमंत्री रहे तेजस्वी ने अपने कार्यकाल में मिले बंगले को करीब 18 महीने की कानूनी लड़ाई के बाद आठ फरवरी को खाली कर दिया. अब सुशील मोदी को ये बंगला आवंटिच किया गया है. तेजस्वी को पटना के एक पोलो रोड स्थित एक आवास आवंटित किया गया है. इसमें पहले सुशील रहते थे.

इसे भी पढ़ेंः बारामूला में सुरक्षाबलों-आतंकियों में मुठभेड़

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button