न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

29-30 नबंर को खेलगांव में होगा ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट का आयोजन

समिट को लेकर पदाधिकारियों को सौंपी गयी जिम्मेवारी

30

Ranchi : उपायुक्त रांची राय महिमापत रे ने ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट को लेकर समीक्षा बैठक बुलाई. साथ ही उन्होंने संबंधित पदाधिकारियों को कई जिम्मेवारी सौंपी. यह समिट 29 एवं 30 नवंबर को खेलगांव में आयोजित किया जायेगा. जिसे राज्य भर के किसान भाई भाग लेंगे. समीक्षा बैठक में डीसी ने सर्वप्रथम ग्लोबल एग्रीकल्चर एंड फूड समिट 2018 के वैन्यू एंड इवेंट मैनेजमेंट कंपनी के विषय में जानकारी देते हुए कहा कि समिट के सफल आयोजन एवं विधि-व्यवस्था के संबंध में जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन,  कृषि विभाग एवं अनुषंगी विभाग के पदाधिकारियों को कई दिशा निर्देश जारी की किया गया है.

बीडीओ के पास जमा करें फोटो पहचान पत्र

उन्होंने कहा कि समिट में कुल 4,500 प्रगतिशील किसान के शामिल होने की सूचना है. कृषि, पशुपालन एवं सहकारिता विभाग से प्राप्त है, जिसमें 2500 किसान रांची जिले के विभिन्न प्रखंडों से जिला कृषि पदाधिकारी द्वारा उपलब्ध कराया गया है. सूची के सत्यापन के बाद उन्हें आवंटित पहचान पत्र के आधार पर शामिल किया जायेगा. डीसी ने बताया कि सभी प्रगतिशील किसान को निर्गत फोटो पहचान पत्र का फोटोग्राफ संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी स्वयं खिंचवाकर फोटो पर अपना हस्ताक्षर एवं मुहर अंकित करना सुनिश्चित करेंगे.

सत्यापन के लिए खेलगावं में बनेगा कंट्रोल रुम

डीसी महिमापत रे ने बताया कि अन्य 23 जिलों से आनेवाले प्रगतिशील किसानों का सत्यापन किया जायेगा. सत्यापन के लिए खेलगांव में कंट्रोल रूम बनाने का निर्देश दिया गया. वहीं प्रगतिशील किसानों का प्रखंड से आवागमन एवं बसों के मुवमेंट की जिम्मेवारी बीडीओ को सौंपी गयी है. इसके अलावा मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी को चिकित्सा व्यवस्था, नगर निगम को साफ-सफाई व्यवस्था, 15 वाटर टैंकर एवं 8 चलंत शौचालय की व्यवस्था कराने का आदेश दिया. वहीं विधि-व्यवस्था एवं रूट निर्धारण की जिम्मेवारी वरीय पुलिस अधीक्षक को सौंपी गयी है. शहर में ट्रैफिक व्यवस्था एवं प्रतिभागियों के लिए पार्किंग स्थल पर प्रतिनियुक्ति के लिए ट्रैफिक एसपी को आदेश जारी किया गया है. इसके अलावा कार्यक्रम स्थल में अग्निशमन वाहन एवं एनडीआरएफ की टीम को भी प्रतिनियुक्त करने का आदेश दिया गया है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: