न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कार्तिक पूर्णिमा पर कोयल तट पर महागंगा आरती का आयोजन

कोयल स्वच्‍छ तो गंगा भी स्वच्छ :  नामधारी

34

Palamu : गंगा हो या कोयल किसी भी नदी को स्वच्छ रखना हम सभी का दायित्व है. यदि कोयल स्वच्‍छ होगा तो गंगा भी स्वच्‍छ होगी. उक्त बातें पूर्व विधानसभा अध्यक्ष इंदर सिंह नामधारी ने कही. वे शुक्रवार को मेदिनीनगर  संकट मोचन दल द्वारा कार्तिक पूर्णिमा महोत्सव के पावन अवसर पर कोयल तट पर आयोजित महागंगा आरती के कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. इसके पूर्व हजारों की संख्या में गंगा आरती में शामिल होने पहुंचे शहर के महिला-पुरूष के साथ कोयल नदी की पूजा अर्चना की व गंगा आरती में शामिल हुए.

कोयल तट की स्वच्‍छता बरकरार रहे

भक्तिमय वातावरण के बीच गंगा आरती में श्रद्धालुओं ने हजारों दीप जलाकर मां गंगा के समर्पित किया. जिससे कोयल तट दीपक की रोशनी से जगमगा उठा. अपने संबोधन में नामधारी ने कहा कि गंगा जैसी हर नदी स्थानीय लोगों के लिए पूजनीय है. उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि गंगा आरती के इस पावन अवसर पर हम सभी को यह संकल्प लेना चाहिए कि कोयल तट की स्वच्‍छता बरकरार रहे. इसमें सब की भागीदारी सुनिश्चित होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि शीघ्र ही मंडल डैम में कार्य प्रारंभ होगा. मंडल डैम बन जाने के बाद कोयल नदी में सालों भर जल की अविरल धारा बहती रहेगी. उन्होंने संकट मोचन दल के कार्यकर्ताओं को महागंगा आरती के आयोजन पर बधाई दी.

silk_park

हर कार्तिक पूर्णिमा पर होता महागंगा आरती का आयोजन

जानकारी के अनुसार मेदिनीनगर के कोयल तट पर प्रत्येक वर्ष कार्तिक पूर्णिमा महोत्सव के साथ-साथ महागंगा आरती का आयोजन किया जाता है. जहां हजारों की संख्या में शहरवासी पहुंचते हैं. गंगा आरती के साथ लोग यहां कोयल नदी की विशेष पूजा अर्चना भी करते हैं. यह परंपरा अब धीरे-धीरे और तेज होने लगी है. कोयल तट पर गंगा आरती में लोगों की संख्या प्रत्येक वर्ष बढ़ती ही जा रही है. गंगा आरती के आयोजन में संकट मोचन दल के राजू गिरी, शंभू पासवान, नंद किशोर गिरी एवं विश्वेश्वर गिरी की अहम भूमिका रही.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: