न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

अयोध्या मामले में SC का आदेश, तीन जजों वाली नयी बेंच 10 जनवरी को सुनवाई की तारीख तय करेगी

SC ने राम मंदिर मामले की सुनवाई आज शुक्रवार को टाल दी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि   राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि मालिकाना विवाद मामले की सुनवाई की तारीख तय करने के लिए नयी बेंच 10 जनवरी को आदेश जारी करेगी.

36

NewDelhi :  SC ने राम मंदिर मामले की सुनवाई आज शुक्रवार को टाल दी. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि   राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि मालिकाना विवाद मामले की सुनवाई की तारीख तय करने के लिए नयी बेंच 10 जनवरी को आदेश जारी करेगी. बता दें कि सीजेआई रंजन गोगोई और न्यायमूर्ति एसके कौल की बेंच ने कहा कि एक उपयुक्त पीठ मामले की सुनवाई की तारीख तय करने के लिए 10 जनवरी को आगे के आदेश देगी. न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार सुनवाई लगभग एक मिनट चली.  अलग-अलग पक्षों की ओर से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता हरिश साल्वे और राजीव धवन को अपनी बात रखने का कोई मौका नहीं मिला.  SC ने राम मंदिर को लेकर पांच सेकेंड के भीतर अगली तारीख दे दी. कहा कि अब तीन जजों वाली नयी बेंच 10 जनवरी को इस मामले की सुनवाई करेगी.  

eidbanner

बता दें कि नयी बेंच इलाहाबाद हाईकोर्ट के सिंतबर 2010 के फैसले के खिलाफ दायर 14 याचिकाओं पर सुनवाई करेगी. बेंच ने इस क्रम में उस याचिका को भी खारिज कर दिया, जिसमें अयोध्या विवाद को लेकर समयबद्ध सुनवाई की मांग की गयी थी. हालांकि, इस बेंच में कौन-कौन होगा? यह अभी तक स्पष्ट नहीं है.

10 जनवरी को ही नयी बेंच के बारे में जानकारी मिलेगी

Related Posts

बंगाल को तरजीह, सांसद अधीर रंजन चौधरी लोकसभा में कांग्रेस के नेता होंगे

अधीर रंजन चौधरी के साथ-साथ केरल के नेता के सुरेश, पार्टी प्रवक्ता मनीष तिवारी और तिरुवनंतपुरम के सांसद शशि थरूर इस पद के लिए दौड़ में शामिल थे.

 रिपोर्ट्स के अनुसार 10 जनवरी को ही इस नयी बेंच के बारे में जानकारी मिलेगी. सूत्रों के हवाले से टीवी रिपोर्ट्स में कहा गया कि नयी बेंच में जज कौन होंगे, ये बाद में तय होगा.  मामले पर सुनवाई रोज होगी या नहीं? यह भी अगली सुनवाई के दौरान ही पता चलने की संभावना है. बता दें कि 28 अक्टूबर को सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि अयोध्या विवाद पर जनवरी के पहले सप्ताह में सुनवाई की तारीख तय की जायेगी. इससे पहले 27 सितंबर को तत्कालीन सीजेआई दीपक मिश्रा, जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस नजीर ने 2:1 के बहुमत से फैसला सुनाया था कि इस मामले की सुनवाई के लिए बड़ी बेंच की कोई आवश्यकता नहीं है. 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: