न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

तारा शाहदेव मामले में रंजीत कोहली की गाड़ियों की नीलामी का कोर्ट ने दिया आदेश

52

Ranchi: नेशनल शूटर तारा शाहदेव प्रताड़ना में रकीबुल हसन उर्फ रंजीत कोहली की परेशानी कम होने का नाम नहीं ले रही हैं. अब रंजीत की गाड़ियां भी नीलाम होगी. मामले की जस्टिस एसके पांडे की अदालत में सुनवायी हुई. सुनवाई के दौरान कोर्ट ने रंजीत कोहली की सभी तरह के गाड़ियों को नीलाम करने का आदेश दिया.

जेल में बंद है रकीबुल हसन

रंजीत कोहली नेशनल शूटर तारा शाहदेव का जबरन धर्म प‍रिवर्तन कराने, प्रताड़ना समेत कई मामलों का आरोपी हैं. वह इस मामले में रांची के होटवार जेल में बंद है. लव-जिहाद मामले की पीड़िता और नेशनल राइफल शूटर तारा शाहदेव को फैमिली कोर्ट से तलाक मिल गया है. तारा शाहदेव ने पूर्व पति रंजीत कोहली उर्फ़ रकीबुल हसन पर जबरन धर्म परिवर्तन, शारीरिक प्रताड़ना सहित कई आरोप लगाए थे. शाहदेव की शादी 7 जुलाई 2014 को रांची में हुई थी.

hosp1

कुत्ते से कटाने का आरोप

पुलिस को दिए अपने बयान में तारा ने कहा कि 7 जुलाई, 2104 को उसकी शादी शहर के रेडिशन ब्लू होटल में रंजीत सिंह कोहली नाम के एक व्यक्ति से हुई थी. लेकिन, शादी के बाद से ही उस पर जानवरों की तरह अत्याचार होने लगे. यहां तक उसे कुत्तों से कटवाने की कोशिश भी की गई थी. यही नहीं, जब तारा को पता चला कि उसके पति का नाम रंजीत सिंह नहीं, बल्कि रकीबुल हसन है, तो उस पर जुल्म की इंतेहा कर दी गई. उस पर जबरन धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाया जाने लगा.

जबरन धर्म परिवर्तन के लिए दबाव

रकीबुल और उसकी मां सिंदूर लगाने पर हाथ-पैर तोड़ने की धमकी देते थे. तारा ने बताया कि उनके बीच दरार तब और गहरा गई जब 9 जुलाई 2014 को उसके पति ने 20-25 हाजियों को घर बुलाया और उस पर जबरन धर्म परिवर्तन के लिए दबाव बनाया. इस दौरान विरोध करने पर बुरी तरह से मारा गया, बल्कि कई बार कुत्ते से कटवाया भी गया. यही नहीं, जुबान खोलने पर उसके भाई को मरवा डालने की धमकी तक दी गई थी. मामला तूल पकड़ने के बाद सीबीआई ने साल 2015 में इस केस की जांच शुरू की थी.

इसे भी पढ़ें – 29,500 होमगार्ड से वादा कर भूले सीएम, न भत्ता बढ़ा, न मिली ट्रैफिक ड्यूटी

इसे भी पढ़ें – वाहनों के फिटनेस में देना पड़ रहा है 471 रुपये अतिरिक्‍त शुल्क, एसोसिएशन ने जताया विरोध

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

You might also like
%d bloggers like this: