न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

बीआइटी मेसरा के पाठ्यक्रमों को एआइसीटीइ संबद्धता पर छह माह में कंपलायंस रिपोर्ट देने का आदेश

पार्ट टाइम के एमबीए, एमसीए और अन्य कोर्स की मान्यता 2018-19 के लिए नहीं

368

पूर्वोत्तर भारत में ही संस्थान के यूजी और पीजी कोर्स को मान्यता

Ranchi : बीआइटी मेसरा के स्नातक और स्नातकोत्तर स्तरीय इंजीनियरिंग और गैर इंजीनियरिंग कोर्स को लेकर को लेकर अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीइ) ने एप्रूवल प्रोसेस 2018-18 का पत्र जारी किया है. यह पत्र एक्सटेंशन ऑफ एप्रूवल (इओए) के तहत जारी किया गया है, जिसमें छह माह के भीतर संस्थान को कमियों से संबंधित कंपलायंस रिपोर्ट स्व अभिप्रमाणित डिस्क्लोजर के साथ जमा करने को कहा गया है. बीआइटी मेसरा के कुलसचिव एवी कृष्णा ने न्यूजविंग को बताया कि एमबीए के फूल टाइम कोर्स, जिसमें 120 छात्रों का दाखिला होता है, उसके लिए मान्यता दी गयी है.

एआइसीटीइ ने एमबीए, एमसीए के लिए पार्ट टाइम अंशकालीन पाठ्यक्रमों की कोई मान्यता प्रदान नहीं की है. ये कोर्स बीआइटी के एक्सटेंशन सेंटरों में नौकरीपेशा लोगों के लिए संचालित किये जाते हैं. 10.4.2018 को जारी किये गये पत्र में छह महीने के अंदर फैकल्टी की कमी, ऑनलाइन ग्रीवांस रीड्रेसल मैकेनिज्म, प्रोवीजन ऑफ मूक्स कोर्स थ्रू स्वयम, नेशनल एकैडेमिक डिपोजिटरी पर संस्थान प्रबंधन से जवाब भी मांगा गया है. इस सिलसिले में कुलसचिव श्री कृष्णा ने किसी प्रकार की जानकारी न्यूजविंग को नहीं दी.

यहां यह बताते चलें कि न्यूजविंग ने यह समाचार प्रकाशित किया था कि बीआइटी के मैनेजमेंट पाठ्यक्रम की मान्यता नहीं दी गयी है. संस्थान के गिरते रैंकिंग के बारे में भी समाचार में लिखा गया था. एआइसीटीइ ने इंजीनियरिंग के स्नातक स्तरीय पाठ्यक्रम और पोस्ट ग्रैजूएट पाठ्यक्रमों के अलावा होटल मैनेजमेंट के पाठ्यक्रम को सर्शत मान्यता दी है. इसमें  कुल सीटों की जानकारी भी उपलब्ध करायी गयी है.

इसे भी पढ़ें: डीसी साहब! इस वीडियो को देखने के बाद भी कहेंगे कि पाकुड़ में नहीं हो रहा है अवैध बालू उठाव

palamu_12

किन-किन कोर्स को मिली है मान्यता

बीआइटी मेसरा के इंजीनियरिंग स्तरीय पाठ्यक्रम में फार्मेसी, आर्किटेक्चर, होटल मैनेजमेंट, इलेक्ट्रोनिक्स एंड कंप्यूटर इंजीनियरिंग, कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग, इंफोरमेशन टेक्नोलाजी, प्रोडक्शन इंजीनियरिंग, सिविल, मैकेनिकल, केमिकल और केमिकल इंजीनियरिंग (प्लास्टिक एंड पोलिमर) के कोर्स शामिल हैं. इसके अलावा 18 से अधिक स्नातकोत्तर स्तरीय पाठ्यक्रम को भी शसर्त मान्यता दी गयी है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: