JharkhandLead NewsRanchi

हाईकोर्ट की मौखिक टिप्पणी- दोषी होने की जानकारी होने के बाद भी रातू सीओ के खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं करती है सरकार

Ranchi: रातू सीओ प्रदीप कुमार मामले में सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने कहा कि सीओ के खिलाफ सरकार कार्रवाई क्यों नहीं करती है. जमीन की गडबड़ियों में इनका अहम योगदान है. जानकारी होने के बाद भी कार्रवाई क्यों नहीं. मामले की सुनवाई जस्टिस कैलाश प्रसाद देव की अदालत में हुई. इस दौरान कोर्ट ने सरकार पक्ष से मामले की जानकारी ली.

इसे भी पढ़ें : 21 फरवरी से न्याय यात्रा पर निकलेंगे लालू के ‘बड़े लाल’

बता दें मामला रातू के सिमलिया मौजा से जुड़ा है. सुनवाई के दौरान सरकार की ओर से दाखिल किये गये जवाब पर कोर्ट असंतुष्ट दिखा. कोर्ट ने कहा कि झारखंड सरकार के अंचल अधिकारी कोर्ट के आदेशों का अनुपालन नहीं करते हैं. मामला में सुरजी देवी समेत अन्य ने याचिका दायर की है. पूर्व की सुनवाई में कोर्ट ने भू राजस्व विभाग को मामले में कारवाई का आदेश दिया था. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. जिस पर कोर्ट ने नाराजगी जतायी.

Catalyst IAS
ram janam hospital

सिमलिया मौजा के खाता 194 के प्लाट संख्या 3158, 3478, 3611, 3744, 3773 क से संबधित मामला है. याचिका में जानकारी दी गयी है कि जमीन जमींदार राजा ठाकुर महेंद्र नाथ शाहदेव ने खरीदी थी. जिसकी खरीद-बक्री कर दी. गयी. इससे मूल रैयतों को वंचित होना पड़ रहा है.

The Royal’s
Sanjeevani

इसे भी पढ़ें : MUNGER: माघ पूर्णिमा को लेकर श्रद्धालुओं ने लगाई गंगा में आस्था की डुबकी

Related Articles

Back to top button