JharkhandRanchi

ट्रेन एवं हवाई सेवा का विरोध गलत, अपनी नाकामी छिपाना चाह रही हेमंत सरकार : दीपक प्रकाश

विज्ञापन

Ranchi : प्रदेश भाजपा के अनुसार हेमंत सरकार अपनी प्रशासनिक विफलताओं को छिपाने में लगी है. इस पर पर्दा डालने के लिये ट्रेन, और हवाई सेवा का विरोध कर रही है.

प्रदेश अध्यक्ष दीपक प्रकाश के अनुसार देश और राज्यभर में दो माह के लॉकडाउन के बीच आर्थिक गतिविधियां ठप पड़ी थीं. अब इन्हें बढ़ाने की कोशिश की जा रही है. राज्य सरकार भी बार बार ऐसा कहती रही है.

ट्रेन, हवाई सेवा शुरू करने के लिये सीएम स्वयं आग्रह करते रहे हैं. इसके बावजूद इन सेवाओं के विरोध में स्वर उठाये जाने को जनता समझ नहीं पा रही है. सरकार हंसने और गाल फुलाने का काम एक साथ करना चाहती है.

इसे भी पढ़ें – #Corona: झारखंड में प्रति दस लाख पर 1693 कोरोना सैंपल की हो रही है जांच, राष्ट्रीय औसत 1671

प्रशासनिक व्यवस्था को करें दुरुस्त

दीपक प्रकाश के अनुसार सीएम ने प्रशासनिक व्यवस्था को दुरुस्त नहीं किया है. ट्रेन, हवाई सेवा के माध्यम से जो यात्री राज्य में आएंगे, उनके सही जांच,वाहन आदि का समुचित प्रबंध राज्य सरकार नहीं कर सकी है.

यही वजह है कि वह अपनी नाकामी का ठीकरा केंद्र सरकार पर फोड़ने में जुटी है. सरकार को तुरंत आवश्यक प्रबंध के लिए पदाधिकारियों को निर्देशित करना चाहिए.

इसे भी पढ़ें – #Garhwa : दो गुटों में हिंसक झड़प के बाद फायरिंग, आठ जख्मी, ईद की खुशियां मातम में बदलीं

झामुमो ने हवाई और ट्रेन सेवा शुरू करने पर जताया है विरोध

झारखंड मुक्ति मोर्चा ने केंद्र सरकार द्वारा 25 मई से अंतरदेशीय हवाई सेवा और 1 जून से यात्री ट्रेन सेवा शुरू करने पर विरोध जताया था.

झामुमो के मुताबिक लॉक डाउन के चौथे चरण की समाप्ति के बाद ही किसी भी तरह के रेल या हवाई सेवा का परिचालन का आकलन करना चाहिए था. सम्पूर्ण देश में मजदूर स्पेशल ट्रेनें चलायी जा रही हैं.

सरकार के निर्णयानुसार आगामी 10 दिनों में 2600  मजदूर स्पेशल ट्रेनों का परिचालन किया जायेगा. इसमे लगभग 36 लाख से भी ज्यादा प्रवासी मजदूर अपने घर को लौटेंगे.

ऐसी विषम परिस्थिति में राज्यों को विशेष तैयारी करनी पड़ेगी. राज्य सरकारों की सहमति के बाद ही रेल एवं हवाई परिचालन शुरू करना चाहिए.

सामान्य रेल एवं हवाई परिचालन लॉकडाउन के चौथे चरण की समाप्ति के पश्चात ही शुरू किया जाना चाहिए.

इसे भी पढ़ें – #Jharkhand : पुलिस और नक्सली मुठभेड़ में हुई चर्चित मौत के मामलों को सीआइडी करेगा टेकओवर

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close