न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सोशल मीडिया में AAP झारखंड की धमक, जेएमएम भी रेस, भाजपा आक्रामक

फेसबुक और ट्विटर पर अचानक सक्रिय हुए विपक्ष के नेता

2,409

न्यूजविंग डेस्क
Ranchi: भले ही लोकसभा का चुनाव आने में एक साल तथा झारखंड विधानसभा का चुनाव आने में डेढ़ साल बचा हो, लेकिन सोशल मीडिया पर चुनाव का रंग चढ़ने लगा है. झारखंड में सोशल मीडिया पर अभी से ही पक्ष और विपक्ष के बीच जंग छिड़ गई है. इस मामले में आम आदमी पार्टी और जेएमएम बेहद सक्रिय दिख रही है.

mi banner add

इसे भी पढ़ें- सरना और ईसाई समुदाय के लोगों ने ठोका भाजपा से जुड़े लोगों पर मुकदमा

आम आदमी पार्टी का मिशन झारखंड हैशटैग टॉप ट्रेंड

आम आदमी पार्टी की पहले से ही सोशल मीडिया में अच्छी पकड़ रही है. लेकिन झारखंड में हाल के दिनों में अचानक आम आदमी पार्टी की सोशल मीडिया विंग बाकि पार्टियों के मुकाबले बढ़त बनाती दिख रही है. इसका एक उदाहरण चार अगस्त की रात देखने को मिला जब अचानक Twitter में टॉप ट्रेंडिंग में झारखंड आम आदमी पार्टी दिखने लगी. मिशन झारखंड नामक हैशटैग के जरिए रात आठ बजे से लगभग दो बजे रात तक इसे टॉप ट्रेंडिंग में देखा गया. लगभग दो घंटे तो इसे टॉप सिक्स तक पहुंचने का अवसर मिल गया.

इसे भी पढ़ें- देहरादून, राजस्थान, पिठौरागढ़ से जालंधर तक फैला है राज्य के IFS अफसरों का साम्राज्य

इस दौरान झारखंड के विभिन्न कोने से आप कार्यकर्ताओं और समर्थकों द्वारा झारखंड के विकास और रघुवर सरकार की नाकामियों पर तरह-तरह के ट्वीट किए जाते रहे. इसमें यह भी बताया गया कि दिल्ली में आप की सरकार ने जो किया है, वैसा विकास झारखंड में भी करेंगे.

आम आदमी पार्टी का ट्विट
आम आदमी पार्टी का ट्विट

इसे भी पढ़ें-बोकारो : छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म, वीडियो वायरल करने की दी धमकी

“बदली है दिल्ली, बदलेंगे झारखंड!” इस स्लोगन के साथ कई पोस्टर भी लगाए गए. इस दौरान झारखंड आप के संयोजक जयशंकर चौधरी तथा प्रदेश प्रभारी विधायक संजीव झा द्वारा कार्यकर्ताओं की हौसलाअफजाई वाले ट्वीट से स्पष्ट है कि यह एक पूर्व निर्धारत अभियान था.
समझा जा सकता है कि आम आदमी पार्टी ने झारखंड में अपनी पैठ बढ़ाने की योजना पर काम करना शुरू कर दिया है. Facebook में भी आम आदमी के पार्टी के विभिन्न पेज पर सक्रियता देखी जा सकती है.

इसे भी पढ़ें- DGP सहित राज्य के IPS भी हैं रियल स्टेट में हीरो, नोयडा, गोरखपुर, पटना सहित रांची में जमीन के मालिक हैं

हेमंत सोरेन की अगुवाई में जेएमएम का सोशल मीडिया पर मजबूत पकड़

झारखंड की प्रमुख विपक्षी पार्टी जेएमएम भी Facebook और Twitter पर सक्रिय हो गई है. पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन खासतौर पर ट्विटर पर बेहद सक्रिय हैं. Twitter के अपने अकाउंट में हेमंत सोरेन खुद दिलचस्पी लेते हैं. वह राज्य के प्रमुख मुद्दों पर स्वयं ट्वीट करने के अलावा प्रमुख नागरिकों तथा पत्रकारों के ट्वीट को रिट्विट भी करते हैं. इसके अलावा कुणाल षाडंगी जैसे नेता भी फेसबुक और ट्विटर पर सक्रिय हैं और वे लगातार ट्विट और पोस्ट करते देखे जा सकते हैं.

हेमंत सोरेन भी ट्विटर पर सक्रिय
हेमंत सोरेन भी ट्विटर पर सक्रिय
Related Posts

बेरमो : खेतको में दामोदर नदी के घाट से बालू का अवैध उठाव जारी

प्रतिदिन पचासो की संख्या में टैक्टरों से बालू का उठाव किया जा रहा है.

इसे भी पढ़ें- नितिन गडकरी ने कहा – आरक्षण लेकर करोगे क्या, जब देश में नौकरियां है ही नहीं

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार भी ट्विटर पर सक्रिय

आमतौर पर आरोप लगाए जाते हैं कि भाजपा के मुकाबले दूसरी विपक्षी पार्टियां सोशल मीडिया पिछड़ जाती हैं. लेकिन झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार को देखकर ऐसा नहीं लगता. डॉ अजय कुमार ट्विटर पर बेहद सक्रिय हैं. वे झारखंड की रघुवर सरकार और केन्द्र की मोदी सरकार के खिलाफ लगातार हमलावर हैं. वे लोगों को ट्विट पर जवाब भी देते हैं. उनकी फॉलोइंग लगातार बढ़ती जा रही है.

ट्विटर पर बेहद सक्रिय हैं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार
ट्विटर पर बेहद सक्रिय हैं कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार

इसे भी पढ़ें- ‘सरकार की कारगुजारियां उजागार करने वाले को देशद्रोही का तमगा देना बंद करें रघुवर सरकार’

भाजपा के नेता भी सोशल मीडिया पर बेहद आक्रमक

सोशल मीडिया पर भाजपा की मजबूत पकड़ रही है. मुख्यमंत्री रघुवर दास इस मामले में राज्य के दूसरे नेताओं से काफी आगे हैं. ट्विटर पर उनको फॉलो करने वालों की तादात तेजी से बढ़ी है. सीएम रघुवर दास के अलावा मंत्री सरयू राय और राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार ने सोशल मीडिया का चतुराई से उपयोग किया है. पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा भी इन दिनों Twitter पर चर्चा में हैं.

इसे भी पढ़ें- हिंदपीढ़ी : 20 दिन पहले ही सिविल सर्जन से की गयी थी चिकनगुनिया फैलने की शिकायत, फिर भी सोया रहा प्रशासन

सोशल मीडिया बना प्रचार का नया हथियार

कहा जाता है कि असली राजनीतिक लड़ाई से पहले उसके तौर तरीके और मुद्दे मीडिया में निर्धारित होते हैं. लेकिन वह जमाना गया, जब राजनीतिक दलों को अपनी बात कहने के लिए अखबार या TV का मुंह देखना पड़ता था. अब सोशल मीडिया के रूप में अपना संचार माध्यम है. नेता अपने कार्यकर्ताओं और समर्थकों तक अपनी बात पहुंचाने के लिए सोशल मीडिया का कारगर तरीके से उपयोग कर रहे हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: