न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

एनएच 98 पर फोरलेन सर्वे का विरोध, मुआवजा-बसाने के बाद काम शुरू करने की मांग

47

Palamu: एनएच 98 पर पंडवामोड़ से छतरपुर तक फोरलेन निर्माण का विरोध शुरू हो गया है. अभी फोरलेन निर्माण के लिए सर्वे काम चल रहा है, लेकिन ग्रामीण इसे भी बसाने व मुआवजा देने के बाद ही शुरू करने की मांग पर अड़े हुए हैं. गुरूवार को सर्वे कार्य रोक दिया गया था. मामले की जानकारी होने पर क्षेत्रीय विधायक राधाकृष्ण किशोर मौके पर पहुंचे और लोगों की समस्या सुनी.

इसे भी पढ़ें – अब पाकुड़ की जनता कह रही कैसे डीसी के संरक्षण में हो रहा है अवैध खनन, सवालों पर डीसी चुप 

बसाने और मुआवजा देने के बाद शुरू होगा निर्माण कार्य: विधायक

ग्रामीणों से बात करते हुए विधायक राधाकृष्‍ण किशोर ने कहा कि विस्थापितों को बसाने और उन्हें मुआवजा दिलाने के बाद ही निर्माण कार्य शुरू किया जायेगा. अभी केवल सर्वे का कार्य चल रहा है. सभी ग्रामीणों को विधायक ने आश्वस्त किया कि, जितने लोग विस्थापित हो रहे हैं. उनलोग को बसाने व मुआवजा देने के बाद ही एनएच 98 के फोरलेन में कार्य शुरू होगा. फोरलेन पड़वा मोड़ व हरिहरगंज एनएच, बैरिया मोड़ भव फैक्ट्री से रामगढ़, उदयगढ़ मोड़ पेट्रोल पंप के नजदीक में निकाला जाएगा. इस फोरलेन में 200 फीट तो कही 230 फीट जमीन का अधिग्रहण किया जायेगा. विधायक श्री किशोर ने कहा कि सड़क तो बनेगी पर किसी को बेघर नहीं किया जाएगा. विधायक के साथ छत्तरपुर एसडीओ भोगेन्द्र ठाकुर, एनएच 98 के कार्यपालक अभियंता, अंचलाधिकारी राजेश कुमार तिवारी भी थे. विधायक ने अंचलाधिकारी राजेश कुमार तिवारी व कार्यपालक अभियंता को निर्देश दिया कि सरकारी कार्यों में विस्थापितों को किसी तरह की टेक्निकल प्रोब्लम ना हो और बाइपास फोरलेन भी बन जाये, इसकी जवाबदेही सुनिश्चित करें.

इसे भी पढ़ेंःCBI विवाद पर ‘सुप्रीम’ सुनवाई: दो हफ्ते में जांच पूरी करे सीवीसी, SC करेगी निगरानी

23 घर होंगे विस्थापित

एनएच 98 के फोरलेन होने से उरांव टोला में कुल 23 घरों के 60 से 70 लोग विस्थापित होंगे. यहां ज्यादा जमीन आदिवासियों की है. फोरलेन बनने पर जमीन का एक टुकड़ा भी नहीं बचेगा. 23 घरों के लोगों ने विधायक श्री किशोर से गुहार लगायी और कहा कि हमलोग को बेघर होने से बचाइये. हम कहां जाएंगे? मौके पर छत्तरपुर सीआई सह हल्का कर्मचारी जगत राम, विधायक के पीए पप्पू सिंह, सुधीर सिन्हा, अशोक सोनी, राम प्रसाद शर्मा, गणेश यादव, रितेश चंद्रा, मुन्ना कुमार समेत मसीहानी के उरांव टोला के ग्रामीण मौजूद थे. विदित हो कि गुरूवार को मसीहानी के उरांव टोला के ग्रामीणों ने फोरलेन सर्वे कार्य का विरोध किया था और बसाने व मुआवजा देने के बाद ही कार्य प्रारंभ करने की मांग की थी. सीओ और सीआई सहित अन्य कर्मियों को सर्वे कार्य बीच में छोड़कर लौटना पड़ गया था.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: