न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ममता की रैली में विपक्षी नेताओं ने भरी हुंकार, मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने को तैयार

 ममता बनर्जी  कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड पर  मोदी सरकार के खिलाफ विपक्षी दलों को एक मंच पर लाने की कवायद में शनिवार को कामयाब नजर आयी.

62

 Kolkata :  ममता बनर्जी  कोलकाता के ब्रिगेड परेड ग्राउंड पर  मोदी सरकार के खिलाफ विपक्षी दलों को एक मंच पर लाने की कवायद में शनिवार को कामयाब नजर आयी. बता दें कि देश की 20 विभिन्न पार्टियों के दिग्गज नेता एक मंच पर एक साथ नजर आये. मंच पर  मौजूद पूर्व भाजपा नेता केंद्रीय मंत्री रह चुके यशवंत सिन्हा और अरुण शौरी ने भी मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चा खोला. बता दें कि दोनों ने नेताओं ने ममता के मंच से मोदी सरकार पर जमकर हमला किया.  यशवंत सिन्हा ने रैली में कहा कि वे  कहते हैं कि हम मोदी को हटाने के लिए एकसाथ आये हैं. मगर मैं यहां बता दूं कि हम मोदी को हटाने के लिए नहीं हैं. सिन्हा ने कहा कि यह प्रश्न एक व्यक्ति का नहीं है. यह एक सोच और विचारधारा का सवाल है. हम एक सोच और उस विचारधारा के विरोध में यहां एकट्ठा हुए हैं.

हा कि पिछले 56 महीने में जो घाटा हुआ है, वह प्रजातंत्र को हुआ है.  देश के किसी भी संस्थान को बर्बाद करने में भाजपा ने कोई कसर नहीं छोड़ी है. हम लोकशाही को बचाने के लिए एकत्रित हुए हैं. वो चाहते हैं हम मोदी को मुद्दा बनायें हम मुद्दे को मुद्दा बनायेंगे. 

Mayfair 2-1-2020

 हम अकेले होकर लड़ेंगे, तो मोदी सरकार को देश बर्बाद करने से नहीं रोक पायेंगे

अरुण शौरी ने कहा कि हम अकेले होकर लड़ेंगे, तो मोदी सरकार को देश बर्बाद करने से नहीं रोक पायेंगे. अगर हम गुजरात में भी एक साथ मिलकर लड़े होते तो परिणाम कुछ और होते. ठीक उसी तरह मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में भी एकजुट होते तो और बेहतर होता. उन्होंने कहा कि बंगाल की शेरनी ने विपक्ष को एकजुट करने का काम लिया है. अरुण शौरी ने कहा कि राफेल जैसा घोटाला किसी सरकार में नहीं हुआ. ऐसी झूठ बोलने वाली सरकार कभी नहीं आयी.

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने भाषण में सबसे पहले यूपीए अध्यक्ष का संदेश सुनाया.  कहा- आगामी चुनाव इस विश्वास से होंगे कि देश में फिर से लोकतंत्र की स्थापना हो. बकौल खड़गे, न खाऊंगा, न खाने दूंगा…नारा देने के बाद  मोदी जी ने कॉरपोरेट कंपनियों के मालिकों, अपने दोस्तों को मोटा मुनाफा पहुंचाया;  किसान, दलित मर रहे.  बेरोजगारी बढ़ रही है. एनसीपी के नेता शरद पवार ने कहा, आप लोगों के इस एकता के प्रदर्शन ने आज हममें उम्मीद जगाई है; मैं ममता बनर्जी को इस बैठक का आयोजन करने के लिए धन्यवाद देना चाहूंगा.  इससे पहले, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने कहा- हमारा एक मिशन है।; हम देश को बचाना चाहते हैं.  लोकतंत्र बचाना चाहते हैं;  उनके अनुसार भाजपा कर्नाटक सरकार को अस्थिर करने के प्रयासों में जुटी है. ऐसे में अगर वह ओछी हरकत करेगी, तो उसे भारी कीमत चुकानी होगी.   एमके स्टालिन ने कहा मई महीने में होने वाला आगामी लोकसभा चुनाव देश का दूसरा स्वाधीनता संग्राम होगा.

  

Vision House 17/01/2020

 केंद्र सरकार को बंगाल की खाड़ी में बहाने का काम करेंगे

 शरद यादव ने कहा कि देश की आजादी, किसान, व्यापार, खतरे में हैं. उन्होंने आगे कहा कि भारत की आजादी में जितनी कुर्बानी बंगाल ने दी है देश के किसी राज्य ने नहीं दी है. 2019 में केंद्र की सरकार को बंगाल की खाड़ी में बहाने का काम करेंगे. आपको एक बार फिर से आपको आगे आने होगा. इस सरकार को हटाना है, क्योंकि यह अघोषित इमरजेंसी है.  कांग्रेस की ओर से ममता बनर्जी की रैली में शामिल अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि हमारी विपक्षी एकता इंद्रधनूष की तरह है.  आज 22 पार्टियों का इंद्रधनुष बना है. रंग अलग होते हुए भी विपक्ष एक इंद्रधनुष है. उन्होंने कहा कि अब जनता की है यही पुकार, अब नहीं चाहिए मोदी सरकार.  अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मोदी जी ने वादा खिलाफी की है. मोदी जी की नोटबंदी की वजह से सवा सौ करोड़ नौकरियां खत्म हो गयीं किसान आत्महत्या कर रहे हैं.  

 देश के प्रधानमंत्री उन लोगों को फॉलो करते हैं जो इस देश की महिलाओं को गालियां देते हैं. जगहजगह दलितों को मॉब लिंचिंग में मारा जा रहा है. आज मुसलमानों पर अत्याचार किया जा रहा है. पिछले 70 साल से देश को कमजोर करने के लिए कई ताकतों ने की. 70 साल में पाकिस्तान ने जो नहीं कर पाया, वह पांच साल में मोदी और अमित शाह ने कर दिखाया.  

 नये साल में नया प्रधानमंत्री जाये तो कितनी खुशी होगी हमें

  अखिलेश यादव ने कहा कि आज अधिकारों को खतरा है. बंगाल मुझे आने का मौका कई बार मिला है. मगर आज जो मौका मिला है वह दूसरा है. जो बात बंगाल से चलेगी वह देश में दिखाई देगी. 12 जनवरी को सपाबसपा और हमारे सहयोगी दलों का गठबंधन हो गया.  सब सोचते थे कि हमारा गठबंधन नहीं होगा. जब गठबंधन हुआ तो देश में खुशी की लहर दौड़ गयी. अखिलेश ने कहा कि नये साल में नया प्रधानमंत्री जाये तो कितनी खुशी होगी हमें.   मायावती की पार्टी बसपा की ओर से सतीश चंद्र मिश्रा ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है. सरकार बनने से पहले बहुत सारे वादे किये मगर बाद में सभी भूल गये.  किसान, गरीब, मजदूरों और दलितों को परेशान किया है. करोड़ों लोगों को इनके कामों की वजह से बेरोजगार होना पड़ा है.    

 

Ranchi Police 11/1/2020

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like