JharkhandMain SliderRanchi

खुल कर सामने आया कांग्रेस का अंतर्कलह, जम कर हुई धक्का-मुक्की, हंगामा, देखें वीडियो

  • डॉ अजय कुमार और सुबोधकांत सहाय के समर्थक में हुई धक्का-मुक्की
  • प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार के पद पर बने रहने को लेकर हुआ विरोध प्रदर्शन

Ranchi: डॉ अजय कुमार के झारखंड प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर बने रहने को लेकर पार्टी मुख्यालय में शनिवार को जम कर हंगामा हुआ. दरअसल आगामी विधानसभा चुनाव की तैयारी को लेकर पार्टी मुख्यालय में प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह के नेतृत्व में एक समीक्षा बैठक बुलायी गयी थी.

Jharkhand Rai

देखें वीडियो-

इसे भी पढ़ें – JPSC के भरोसे नहीं, कॉलेज सर्विस कमिशन का गठन कर होनी चाहिये लेक्चरर की नियुक्ति : डॉ. वीपी शरण

बैठक में प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार, प्रदेश सह-प्रभारी उमंग सिघांर भी उपस्थित होनेवाले थे. हालांकि इससे पहले ही सुबोधकांत सहाय का एक गुट मुख्यालय में मुख्य द्वार पर बैठ कर डॉ अजय के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने लगा. वे लोग ‘डॉ अजय कुमार गो बैक’ के नारे लगा रहे थे. हालांकि खबर लिखने तक डॉ अजय कुमार बैठक में शामिल नहीं हुए, लेकिन जैसे ही प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह मुख्यालय पहुंचे, तो यह विरोध प्रदर्शन धक्का-मुक्की में बदल गया. स्थिति हाथापाई तक पहुंच गयी थी.

Samford

विरोध प्रदर्शन करनेवाले गुट का नेतृत्व जहां पूर्व महानगर अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह और सुबोधकांत के करीबी माने जाने वाले राकेश सिन्हा कर रहे थे, वहीं डॉ अजय कुमार के समर्थन में वर्तमान महानगर अध्यक्ष संजय पांडेय थे. प्रदेश मुख्यालय में तोड़-फोड़ तक की नौबत आ गयी.

इसे भी पढ़ें – इविक्शन ऑर्डर निकालने के तीन माह के बाद भी सीसीएल की जमीन से नहीं हटाया जा सका अवैध कब्जा

जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं को नजरअंदाज करने का लगा आरोप

विरोध प्रदर्शन कर रहे सुरेंद्र सिंह ने बताया कि डॉ अजय के गैर झारखंडी होने के कारण आज प्रदेश में कांग्रेस पार्टी समाप्त हो रही है. उनके नेतृत्व में जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं को नजरअंदाज किया जा रहा है. रुपये लेकर सीटों को बेचा जा रहा है. वहीं राकेश सिन्हा ने कहा कि उन लोगों का विरोध प्रदर्शन कांग्रेस के अस्तित्व के लिए है. विगत दो सालों से प्रदेश अध्यक्ष डॉ अजय कुमार राहुल गांधी और सोनिया गांधी पर भरोसा करनेवाले कार्यकर्ताओं को दरकिनार कर राजनीति कर रहे हैं. उन्हें राज्य की राजनीति की कोई जानकारी नहीं है. जिसका असर यह हुआ कि लोकसभा चुनाव में सात सीटों पर चुनाव लड़ने के बाद पार्टी केवल एक ही सीट बचा सकी.

इसे भी पढ़ें- वायनाड में राहुल गांधी का रोड शो, कहा, चुनाव जीतने के लिए झूठ बोलते हैं  मोदी

वर्तमान और पूर्व महानगर अध्यक्ष आपस में भिड़े

विरोध प्रदर्शन होने के दौरान धक्का-मुक्की की स्थिति उस समय जबरदस्त हुई, जब वर्तमान महानगर अध्यक्ष संजय पांडेय डॉ अजय कुमार के समर्थन में नारेबाजी करने लगे. इसे देख सुबोधकांत के करीबी व पूर्व महानगर अध्यक्ष सुरेंद्र सिंह ने संजय पांडेय के सामने ही डॉ अजय के खिलाफ नारेबाजी करने लगे. दोनों अध्यक्षों के समर्थक आपस में जिस तरह से भिड़ने को तैयार थे, उससे मुख्यालय में मारपीट की स्थिति बनने लगी.

इसे भी पढ़ें – अलीगढ़ कांड : बच्ची की हत्या मामले में और दो आरोपी गिरफ्तार, बच्ची की हत्या के बाद शव को फ्रिज में रखा !

लोकतांत्रिक पार्टी है कांग्रेस, अपनी बात रख सकते हैं कार्यकर्ता: आरपीएन सिंह

पूरे मामले पर प्रदेश प्रभारी आरपीएन सिंह भी मीडिया के सवालों से बचते दिखे. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी लोकतांत्रिक भावना से काम करती है. पार्टी के हर कार्यकर्ता को अपनी बात रखने का अधिकार है. विरोध प्रदर्शन करने वाले नेताओं से उन्होंने बातचीत की है, उन्हें कहा गया है कि उनकी जो भी समस्या है, उन्हें आपस में बैठ कर सुलझा लिया जायेगा. इस दौरान जब सुबोधकांत के बैठक में उपस्थित नहीं होने का जब उनसे सवाल पूछा गया तो आरपीएन सिंह ने कहा कि उन्हें बैठक के लिए नहीं बुलाया गया है.

इसे भी पढ़ें – ईडी में आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर की 10 जून को पेशी

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: