Crime NewsJharkhandRanchi

ऑपरेशन खुशीः झारखंड की बच्ची को दिल्ली में मुक्त कराया गया, तीन गिरफ्तार

Ranchi: झारखंड राज्य महिला विकास समिति और बाल कल्याण संघ की संयुक्त पहल पर दिल्ली से झारखंड की एक नाबालिग बच्ची को रविवार को मुक्त कराया गया. सुकुर विहार (दिल्ली) से मुक्त करायी गयी बच्ची के लिये दिल्ली पुलिस ने भी सहयोग दिया.
रविवार की सुबह रांची जिला बाल संरक्षण पदाधिकारी सेवक राम को बच्ची से संबंधित सूचना मिली. इसके बाद एकीकृत पुनर्वास-सह-संसाधन केंद्र, नई दिल्ली और बाल कल्याण संघ के निदेशक के सहयोग से एक टीम गठित की गयी. पुलिस के साथ मिलकर इस टीम ने ऑपरेशन खुशी के तहत उसे मुक्त कराया.

तीन गिरफ्तार

बालिका को छुड़ाने में लगी टीम ने उसे मुक्त कराने के साथ साथ तीन मानव तस्करों को भी पकड़ा. इसमें बालिका को झारखंड से दिल्ली तक लाने वाले दो मानव तस्कर और दिल्ली में प्लेसमेंट एजेंसी चलाने वाला एक मानव तस्कर भी शामिल है.
यह बच्ची मुख्य रूप से गोड्डा जिले के रहने वाली है. मानव तस्करों द्वारा उसे बहला फुसलाकर दिल्ली ले जाया गया था. बच्ची को बेचे जाने की प्रक्रिया चल रही थी. पर समय रहते उसे मुक्त कराने में टीम को सफलता मिल गयी.

एकीकृत पुनर्वास-सह- संसाधन केंद्र के परियोजना समन्वयक सुनील कुमार गुप्ता के मुताबिक मानव तस्कर को फिलहाल लॉकअप में रखा गया है. बालिका की काउंसेलिंग की जा रही है. इसके बाद तस्करों को जेल भेजा जाएगा. बालिका को वर्तमान में बाल कल्याण समिति के सहयोग से बालिका गृह में भेजे जाने की तैयारी है.

ऑपरेशन खुशी का मिल रहा लाभ

बालिकाओं को मुक्त कराने में एकीकृत पुनर्वास-सह-संसाधन केंद्र और बाल कल्याण समिति लगातार पहल कर रही है. रविवार को मुक्त करायी गयी बच्ची के मामले में केंद्र के नोडल पदाधिकारी शहंशाह अली खान, प्रिंस राजपूत और अन्य ने अहम योगदान दिया. बाल कल्याण संघ के सचिव संजय मिश्रा भी ऑपरेशन खुशी को सफल बनाने में लगे हैं.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: