न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

ऑपरेशन ग्रीन हंट का जवाब था बूढ़ा पहाड़ पर हमला : माओवादी

मुठभेड़ में  एरिया कमांडर शेखर जी उर्फ विजय भी मारा गया

1,872

Manoj Dutt Dev

Latehar: 26 जून को लातेहार के छपरी-महुआ में लैंड माइन ब्लास्ट और मुठभेड़, ऑपरेशन ग्रीन हंट का जवाब था. यह बात भाकपा माओवादी के कोयल शंख जोनल कमिटी के प्रवक्ता ने न्यूज विंग के लातेहार संवाददाता से फोन पर सम्पर्क कर विज्ञप्ति जारी करते हुई कही. 26 जून को सुरक्षाबलों पर हुए हमले की जिम्मेदारी लेते हुए भाकपा माओवादी के प्रवक्ता ने कहा कि इस दौरान सुरक्षाबल के छह जवान मारे गये. जबकि चार घायल हुए. प्रवक्ता ने कहा कि छपरी-महुआ एंबुस पुलिस को ‘धुल चटाओ एवं दुश्मनों को घेरा डालो-विनाश करो’ के तहत ऑपरेशन ग्रीन हंट का जवाब था. माओवादियों ने आरोप लगाया कि 26 जून को दिन के करीब 02:15 बजे पहले सीआरपीएफ कोबरा ने दर्जनों मोटार्र रॉकेट लॉंचर से हमारे ठिकाने पर हमला किया था. जिसके जवाब में ठीक उसी दिन पीएलजीए छापामार दस्ते के लोगों ने सुरक्षाबल को जवाब दिया. वही माओवादी प्रवक्ता ने बताया कि सुरक्षाबल के हमले में हमारा एरिया कमांडर शेखर जी उर्फ विजय मारा गया. लेकिन एक शहादत से हमारा मनोबल टूटने वाला नहीं, बल्कि और मजबूत हुआ है.

इसे भी पढ़ेंः पारा टीचर की हत्या के दोषी एनोस एक्का को उम्रकैद-एक लाख का जुर्माना, गयी विधायिकी

 

फासिस्ट है भाजपा सरकार

फोन पर भाकपा माओवादी के प्रवक्ता ने कहा कि झारखंड की संपदा, जल-जंगल-जमीन को विदेशी कॉरपोरेट को देने के लिए फासिस्टवादी भाजपा सरकार दमनकारी काम कर रही है. आदिवासियों को कुचलने का काम कर रही है. लेकिन भाजपा सरकार की साजिश सफल नहीं होगी. साथ ही कहा कि समाज में जब तक मानव का मानव द्वारा शोषण होता रहेगा, तब तक शोषण के खिलाफ क्रांति जारी रहेगी. जब-जब सुरक्षा बल द्वारा गरीब आदिवासी का दमन होगा, तब तक पीएलजीए उसका जवाब देने के लिए बाध्य होगी. भाजपा सरकार पर आरोप लगाते हुए प्रवक्ता ने कहा कि सैनिकों की मौत की जिम्मेवार केंद्र एवं राज्य सरकार है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: