Bihar

#MobLynching को लेकर PM को लिखा था खुला पत्र, प्राथमिकी दर्ज

विज्ञापन

Muzaffarpur (Bihar): देश में बढ़ रहे मॉब लिंचिंग (भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या) के मामलों पर चिंता जाहिर करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुला खत लिखने वालों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गयी है.

इसे भी पढ़ें- पलामू : सड़कें हैं #Dangerous, थोड़ी सी चूक होते ही हो जाते हैं हादसे, मरम्मत और निर्माण पर नहीं है किसी का ध्यान

कुल 50 लोगों पर प्राथमिकी दर्ज

पत्र लिखने वालों में रामचंद्र गुहा, मणि रत्नम और अपर्णा सेन समेत करीब 50 लोग शामिल हैं. जिनके खिलाफ गुरूवार को प्राथमिकी दर्ज की गयी. पुलिस ने यह जानकारी दी.

स्थानीय वकील सुधीर कुमार ओझा की ओर से दो महीने पहले दायर की गयी एक याचिका पर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट (सीजेएम) सूर्य कांत तिवारी के आदेश के बाद यह प्राथमिकी दर्ज हुई है.

ओझा ने कहा कि सीजेएम ने 20 अगस्त को उनकी याचिका स्वीकार कर ली थी. इसके बाद गुरुवार को सदर पुलिस स्टेशन में प्राथमिकी दर्ज हुई.

इसे भी पढ़ें-गिरिडीह : #NewsChannel की परिचर्चा में बिगड़ा माहौल, #JVM नेता पर छिड़का गया #Petrol

क्या धाराएं लगायी गयीं हैं

ओझा का आरोप है कि इन हस्तियों ने देश और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की छवि को कथित तौर पर धूमिल किया.

पुलिस ने बताया कि प्राथमिकी भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत दर्ज की गयी है. इसमें राजद्रोह, उपद्रव करने, शांति भंग करने के इरादे से धार्मिक भावनाओं को आहत करने से संबंधित धाराएं लगायी गयीं हैं.

Telegram
Advertisement

Related Articles

Back to top button
Close