JharkhandRanchi

केंद्रीय शिक्षा मंत्री के नाम हेमंत सोरेन का खुला पत्र, कहा- संक्रमण देख जनहित में नीट-JEE परीक्षा करें स्थगित

Ranchi  : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने केंद्रीय शिक्षा मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक को एक खुला पत्र लिखा है. पत्र में उन्होंने कोरोना संक्रमण को देखते हुए जेईई और नीट परीक्षाओं के आयोजन को स्थगित करने की मांग की है.

Jharkhand Rai

हेमंत सोरेन ने कहा है कि जनहित के मुद्दों को देखते हुए उनकी अपील है कि वे दोनों परीक्षाओं को स्थगित करने पर विचार करें. पत्र में मुख्यमंत्री ने कोरोना से उत्पन्न तमाम परिस्थितियों और परीक्षा लेने पर आने वाली परेशानियों का भी जिक्र किया है.

जरूरी है कि मानसिक शांति और सुरक्षा में विद्यार्थी दें परीक्षा

पत्र में हेमंत ने केंद्रीय़ शिक्षा को कहा है कि जेईई और नीट की परीक्षाएं आगामी सितंबर में आयोजित होने वाली हैं. दोनों ही प्रतियोगी परीक्षाएं एक छात्र के करियर में काफी महत्वपूर्ण हैं. परीक्षाओं में सफलता या असफलता उसके भविष्य के जीवन का फैसला करेगा. ऐसे में सभी छात्र चाहते है कि वे अच्छे स्वस्थ्य, सुरक्षा और मानसिक शांति के वातावरण में परीक्षा दें.

इसे भी पढ़ें – Corona: 27 अगस्त को मिले 1365 नये केस, 10 मौतें हुईं, झारखंड का कुल आंकड़ा 34676

Samford

कोरोना का दंश झेल रहा है देश, अर्थव्यवस्था पर भी पड़ा है नकारात्मक प्रभाव

दूसरी तरफ अभी पूरा देश कोरोना महामारी का दंश झेल रहा है. स्थिति यह है कि आज हजारों लोग इस महामारी से मर चुके है. इस महामारी ने व्यापक तौर पर अर्थव्यवस्था पर प्रभाव दिखाया है. इससे न केवल लोगों के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ा है, बल्कि आर्थिक संकट के कारण लोगों में मनोवैज्ञानिक तनाव भी बढा है.

परीक्षा होने पर खोलना पड़ेगा पब्लिक ट्रांसपोर्ट और होटल

हेमंत ने कहा कि अगर परीक्षा तय समय पर ली जाती है, तो सरकार को पब्लिक ट्रांसपोर्ट, होटल, लॉज और रेस्तरां को बड़ी संख्या में खोलना पडेगा. ऐसा परीक्षार्थियों और उनके अभिभावकों के रहने के लिए करना पड़ेगा. इससे कोरोना संकट फैलने का खतरा बढ़ सकता है. जबकि हकीकत यही है कि महामारी को देख झारखंड सरकार ने न ही पब्लिक ट्रांसपोर्ट खोलने की इजाजत दी है, न ही होटल, लॉज को.

इसे भी पढ़ें – गिरिडीह: राजद नेता की हत्या के आरोपी राजेश राय पर ट्रेन डकैती समेत 20 से अधिक केस हैं दर्ज

कंटेनमेंट जोन के विद्यार्थी भी परीक्षा में होंगे शामिल, संक्रमण का बढ़ेगा खतरा

हेमंत ने कहा कि यह कहने की आवश्यकता नहीं है कि कुछ ऐसे परीक्षार्थी भी परीक्षा में शामिल होंगे, जो अभी कंटेनमेंट जोन में रहते है. ऐसे में उनका क्षेत्र से बाहर जाना मुश्किल हो सकता है. ऐसे क्षेत्र में अभी भी कई व्यक्ति या उसके परिवार के सदस्य कोरोना वायरस से संक्रमित हैं. अगर परीक्षा आयोजित होती है, तो छात्रों के उपस्थित होने पर संक्रमित परीक्षार्थी का पता लगाने और उसे रोकने का सरकार पर कोई विशेष तरीका नहीं है. यह स्थिति परीक्षा हॉल में बाकी परीक्षार्थियों और पर्यवेक्षकों को संक्रमित कर सकता है. ऐसे में जरूरी है कि वे परीक्षा स्थगित करने पर विचार करें.

इसे भी पढ़ें – पलामू: मछली पकड़ने के विवाद में थप्पड़ और लात से मारा, युवक ने तोड़ा दम, आरोपी गिरफ्तार

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: