Bihar

पटना के NMCH में 2 महीने बाद शुरू हुई OPD सेवा, 18 जून से मरीजों का होगा इलाज

Patna: पटना के NMCH से मरीजों के लिए राहत भरी खबर आई है. कोरोना संक्रमितों की संख्या कम होने पर NMCH के जूनियर डॉक्टरों द्वारा ओपीडी सेवा शुरू करने की मांग की गयी थी जिसे स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव ने मान ली है.

Advt

तकरीबन 2 महीने बाद नालंदा मेडिकल कॉलेज (NMCH) की OPD आज से चालू कर दिया गया है जो मरीजों के लिए राहत भरी खबर है. 17 जून से मरीजों का OPD में इलाज शुरू हो गया है.

वहीं 18 जून से इनडोर यानी वार्ड में भी मरीज भर्ती किए जाएंगे. NMCH के अधीक्षक डॉ बिनोद सिंह के मुताबिक डेडिकेटेड अस्पताल को सामान्य मरीजों के लिए चालू करने का आदेश भी जारी कर दिया है.

इसी के साथ आज 17 जून से NMCH के सभी विभाग की OPD में मरीजों का ईलाज शुरू कर दिया गया है. इस दौरान पूरे वार्ड में सैनिटाइजेशन का काम किया गया है.

इसे भी पढ़ें :रोहिंग्या घुसपैठियों को कैसे लगेगा टीका, महेश पोद्दार ने उठाया सवाल

सैनिटाइजेशन के दौरान ही मरीजों को वार्ड में भर्ती करने की भी व्यवस्था भी कर दी गई है. कल से यानी 18 जून से गंभीर मरीजों को ओपीडी में भर्ती किया जाएगा.

NMCH के मेडिकल सुपरिटेंड डॉ बिनोद ने बताया है कि OPD चालू करने के लिए कोरोना के मरीजों को MCH बिल्डिंग में शिफ्ट किया जाएगा. वहीं ब्लैक फंगस के मरीजों को ENT में रखा जाएगा. आपको बता दें कि

NMCH को दूसरी लहर में भी कोरोना का डेडिकेटेड हॉस्पिटल घोषित किया गया था . पहली लहर में 24 मार्च 2020 को इसे कोरोना के लिए डेडिकेटेड बनाया गया था. 5 अक्टूबर 2020 तक यह कोविड मरीजों के लिए ही काम करता रहा.

इसे भी पढ़ें :झारखंड के बॉर्डर एरिया में मास टेस्ट ड्राइव, 22 जून को 1,20,000 लोगों का होगा रैपिड एंटीजेन टेस्ट

कोविड अस्पताल में सिर्फ कोरोना मरीजों का ही इलाज हो रहा था. जूनियर डॉक्टरों ने कोरोना के मरीजों की संख्या कम होने के बाद स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव से मांग की थी कि NMCH में सामान्य मरीजों का इलाज शुरू किया जाए.

जूनियर डॉक्टरों ने प्रधान सचिव को भेजे पत्र में कहा था कि अगर अलग-अलग अस्पताल एक-एक कर डेडिकेटेड अस्पताल बनाया जाए तो इतनी समस्या नहीं होगी.

इसे भी पढ़ें :तीस दिन से ज्यादा लंबित म्यूटेशन के मामलों का जल्द से जल्द करें निष्पादन: उपायुक्त

Advt

Related Articles

Back to top button