DeogharJharkhandLead NewsRanchi

26 जून को देवघर एम्स में OPD का उद्घाटन समारोह, अतिथियों में सांसद निशिकांत दूबे का नाम नहीं, विवाद

बाबूलाल मरांडी ने सीएम से की शिकायत

Ranchi: देवघर एम्स का उद्घाटन समारोह 26 जून को तय हुआ है. इसमें चयनित अतिथियों की लिस्ट में स्थानीय सांसद निशिकांत दुबे का नाम जिला प्रशासन ने शामिल नहीं किया है. इसे लेकर पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी ने सीएम हेमंत सोरेन को चिठ्ठी लिखते हुए डीसी की शिकायत की है. उन पर पक्षपात का आरोप लगाया है. कहा है कि झारखण्ड के लिए गौरव की बात है कि केन्द्र सरकार ने देवघर में अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान की स्थापना कर यहां के लोगों को तोहफा दिया है.

अब 26 जून को नवनिर्मित AIIMS में O.P.D का उद्घाटन होना प्रस्तावित है. सरकारी योजना के किसी भी कार्यक्रम शिलान्यासॉ, उद्घाटन में स्थानीय सांसद एवं विधायक विधिवत् आमंत्रित किए जाते हैं.

लोकतंत्र में यह परम्परा चली आ रही है. स्थानीय सांसद, विधायक का विशेषाधिकार भी है. पर इस लोकतांत्रिक व्यवस्था चली आ रही परम्परा को ही तोड़ने का काम देवघर जिला प्रशासन कर रहा है. किसी भी सरकार ने इस तरह का कार्य अभी तक नहीं किया है. सरकार इस पर गंभीरता दिखाये.

इसे भी पढ़ें :जानिए पीएम मोदी के साथ कश्मीरी नेताओं की बैठक में आखिर क्या चर्चा हुई

advt

केवल 5 को आमंत्रण

बाबूलाल के मुताबिक, जानकारी मिली है कि Covid Protocol की वजह से पांच ही लोगों को AIIMS, O.P.D उद्घाटन समारोह में उपस्थित रहने की स्वीकृति दी जा रही है.

पर इसमें स्थानीय सांसद को सशरीर उपस्थित रहने का आमंत्रण नहीं दिया गया है. यह सामान्य शिष्टाचार के प्रतिकूल है. केन्द्र सरकार की किसी भी संस्था के उद्घाटन कार्यक्रम में अतिथियों के नाम संबंधित मंत्रालय या संस्था तय करती है, लेकिन उक्त कार्यक्रम में राज्य सरकार (देवघर जिला उपायुक्त) अतिथियों के नाम तय कर रही है.

इसे भी पढ़ें :पलामू: 2586 की हुई कोविड जांच, एक भी पॉजिटिव मामला नहीं

इससे एक गलत और अलोकतांत्रिक प्रक्रिया की शुरूआत होगी. यह महत्वपूर्ण एवं गंभीर मसला है. आपको इसकी जानकारी होनी चाहिए. यदि ऐसा होता है तो एक गलत परम्परा की शुरूआत होगी जो भविष्य के लिए उदाहरण बन जाएगा. आनेवाली सरकार भी इसी नक्शे कदम पर चलने के लिए मजबूर होगी.

केन्द्र अथवा राज्य सरकार के किसी भी सरकारी कार्यक्रम में स्थानीय सांसद, विधायक की विधिवत् उपस्थिति अनिवार्य है. पर AIIMS के O.P.D उद्घाटन कार्यक्रम में देवघर डीसी द्वारा अतिथियों का नाम पक्षपातपूर्ण तरीके से तय किया गया है.

स्थानीय सांसद को कार्यक्रम में सशरीर उपस्थिति से रोकना सांसद के अधिकार का हनन भी है. अत: सरकार से अपेक्षा है कि AIIMS के O.P.D उद्घाटन कार्यक्रम समारोह में स्थानीय सांसद की सशरीर उपस्थिति सुनिश्चित कराऐंगे. इससे लोकतंत्र की गरिमा बनी रहेगी. गलत परम्परा की शुरूआत होने से इसे रोका जाए.

इसे भी पढ़ें :टोल प्लाजा के लिए सड़कों का चयन इस तरह किया जाये कि उसका आम जनता पर बोझ नहीं पड़े : CM

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: