न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

JSCA में अक्टूबर 2017 के बाद हुआ सिर्फ एक इंटरनेशनल मैच, सुनाई देती रहीं शादी-पार्टियों की गूंज

JSCA स्टेडियम के निर्माण से राज्य के क्रिकेटप्रेमियों में आस जगी थी कि उन्हें रांची में ही अंतरराष्ट्रीय मैच देखने के अवसर मिलते रहेंगे.

1,331

Abinash Mishra

Ranchi : JSCA स्टेडियम के निर्माण से राज्य के क्रिकेटप्रेमियों में आस जगी थी कि उन्हें रांची में ही अंतरराष्ट्रीय मैच देखने के अवसर मिलते रहेंगे. शुरुआती चार सालों तक ऐसा हुआ भी, लेकिन पिछले दो सालों से तो जैसे इस स्टेडियम में मैचों का सूखा पड़ गया है. स्टेडियम अब हाइप्रोमाइल शादियों का वेन्यू बनता जा रहा है.

जेएससीए स्टेडियम का उद्घाटन 2013 में हुआ. उसके बाद 2017 तक कुल 12 इंटरनेशनल मैच यहां खेले गये. लेकिन उसके बाद से वनडे और टी-20 मैचों का टोटा पड़ गया.

इसे भी पढ़ें : जैक ने 9वीं की विशेष परीक्षा का रिजल्ट जारी किया, 13,227 छात्र सफल, 11,660 हुए असफल

hotlips top

शुरुआती चार सालों में नौ वनडे खेले गये

शुरुआती चार सालों में नौ वनडे और दो T-20 मैच खेले गये. एक मैच बारिश की भेंट चढ़ गया. एक टेस्ट मैच भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेला गया, वो भी 2017 की शुरुआत में.

2017 के नवंबर से लेकर लेकर अब तक लिर्फ एक ही वनडे हुआ है वो भी 8 मार्च 2019 को. 2020 में भी JSCA में कोई वनडे या T-20 मैच होने की उम्मीद कम ही है.

30 may to 1 june

देश के 42वें स्टेट ऑफ दी आर्ट क्रिकेट स्टेडियम में फैन्स के शोर कम, शादियों और पार्टियों की गुंज ज्यादा सुनाई देती है.

इसे भी पढ़ें : जम्मू-कश्मीर  : उमर अब्दुल्ला पीएम मोदी से मिले , 35ए से छेड़छाड़ न करने का आग्रह किया

इस साल आइपीएल का एक भी मैच नहीं

2019 के अप्रैल में हुए आइपीएल का कोई भी मैच इस बार JSCA में नहीं हुआ, जबकि देश के हर बड़े स्टेडियम में मैच खेले गये. बीते आठ सालों में JSCA में आइपीएल के 10 से अधिक मैच खेले गये हैं लेकिन इस बार JSCA को ये मौका नहीं मिला.

2018 तक KKR (कोलकाता नाइट राइडर्स) ने JSCA स्टेडियम ने अपना धरेलू मैदान माना था. घरेलू मैदान का दर्जा देने का मतलब है सभी टीम को घर में और बाहर दोनों जगह खेलना पड़ता है. लिहाजा KKR के मैच JSCA को मिलते थे.

लेकिन इस बार 2019 में KKR ने ये दर्जा JSCA को नहीं दिया. इसके पीछे दलील दी गयी थी की रांची जाकार मैच खेलना उनके लिए महंगा पड़ता है. इस वजह से ही इस बार JSCA आइपीएल के ग्लैमर से भी दूर रह गया.

इसे भी पढ़ें : सुपारी किलिंग ग्रुप में तब्दील होता जा रहा PLFI, सुदेश महतो समेत खूंटी में BJP नेता की हत्या की रच चुका है साजिश 

पूर्व अध्यक्ष चौधरी की पकड़ का मिलता था लाभ 

माना जाता है कि करीब 800 करोड़ की लागत से बने इस स्टेडियम को जेएससीए के पूर्व अध्यक्ष अमिताभ चौधरी की बीसीसीआइ में ऊंचे पद (ज्वाइंट सेक्रेटरी) और मजबूत पकड़ के कारण मैच मिलते थे.

लेकिन लोढ़ा केमेटी की सिफारिश के बाद अमिताभ चौधरी को अध्यक्ष पद छोड़ना पड़ा  जिसके बाद नये अध्यक्ष JSCA में मैच कराने में असफल रहे हैं. क्रिकेट फैन्स के बीच सवाल ये है कि रांची में विराट कोहली, रोहित शर्मा या जसप्रीत बुमराह को देखने के लिए और कितना इंतजार करना होगा.

टेस्ट के विश्वकप में मिल सकता है मौका : JSCA

जेएससीए का कहना है मई 2019 से टीम इडिया का लगातार विदेश दौरा चल रहा है जिसकी वजह से फैन्स को वनडे और T-20 लिए और इंतजार करना होगा.

2020 में देश में होने वाले मैचों का शेडयुल अभी आया नहीं है. लेकिन टेस्ट का विश्वकप एक अगस्त से शुरू हो रहा है जिसमें 9 देशों के बीच 27 टेंस्ट खेले जाने है जिसमें से JSCA को एक टेस्ट के आयोजन का मौका मिलेगा.

इसे भी पढ़ें : उन्नाव रेपकांड  : भाजपा ने आरोपी  विधायक कुलदीप सिंह सेंगर को पार्टी से  बाहर का रास्ता दिखाया

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

o1
You might also like