NEWSWING
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मजाकः महज आठ स्कूल शामिल हुए राज्य स्तरीय नाटक प्रतियोगिता में,  विजेता रहा होस्ट स्कूल

विभाग के अधिकारियों ने नाटक प्रतियोगिता का आयोजन निजी स्कूल डीपीएस में क्यों किया और इसमें कुल आठ स्कूल ही क्यों शामिल किये गये?

217

Ranchi : झारखंड के मुख्यमंत्री राज्य के सरकारी स्कूलों को बेहतर करने के लिए हर तरह के प्रयास कर रहे हैं, लेकिन झारखंड सरकार के स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के अधिकारी सरकारी स्कूलों से ज्यादा निजी स्कूलों के प्रचार-प्रसार पर ध्यान दे रहे हैं. ताजा मामला राज्य स्तरीय नाटक प्रतियोगिता का है. इसका आयोजन गुरुवार को रांची के डीपीएस स्कूल में किया गया. विभाग के अधिकारियों ने नाटक प्रतियोगिता का आयोजन निजी स्कूल डीपीएस में क्यों किया और इसमें कुल आठ स्कूल ही क्यों शामिल किये गये?  कमाल की बात रही कि जिस स्कूल में राज्य स्तरीय प्रतियोगिता का आयोजन किया गया, उसी स्कूल को विभाग के अधिकारियों ने विजेता घोषित कर दिया. विजेता स्कूल दिल्ली में राष्ट्रीय स्तर की नाटक प्रतियोगिता में झारखंड राज्य का प्रतिनिधित्व करेगा.

इसे भी पढ़ेंःझारखंड से किनारा कर रहे IAS अधिकारी, 11 चले गये 4 जाने की तैयारी में

 केंद्र सरकार महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य मेंं  कार्यक्रमों का आयोजन कर रही है

दरअसल केंद्र सरकार महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य पर कई कार्यक्रमों का आयोजन कर रही है. इसी के तहत मानव संसाधन एवं विकास मंत्रालय की ओर से पूरे देश के छात्रों के विभिन्न कार्यक्रम विश्वविद्यालय एवं स्कूल स्तर पर चलाये जा रहे हैं. इसी के तहत राष्ट्रीय स्तर पर इंटर स्कूल नाटक प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है, इसका विषय एमएचआरडी विभाग ने विषय-(महात्मा गांधी सिर्फ एक  राष्ट्रीय व्यक्तित्व नहीं थे, लेकिन वह एक विचारधारा थे) रखा है. प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए देश के सभी राज्यों को सूचना केंद्र की ओर से निर्गत कर दी गयी है. इसका आयोगन अगामी 23 सितंबर से 25 सितंबर तक दिल्ली में किया जायेगा.

केंद्र सरकार ने राज्य सरकार से इस प्रतियोगिता में हिस्सा लेने के लिए राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के माध्यम से श्रेष्ठ टीम को राज्य का प्रतिनिधित्व करने की बात कही है. केंद्र सरकार के आदेश का पालन करने के लिए आनन-फानन में राज्य के स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग के अधिकारियों ने आठ स्कूलों को  लेकर राज्य स्तरीय प्रतियोगिता का आयोजन डीपीएस स्कूल में कर डाला. राज्य स्तरीय नाटक प्रतियोगिता के आयोजन के लिए अधिकारियों ने डीपीएस रांची  को ही क्यों चुना. क्या राज्य सरकार के पास इस तरह का कोई स्कूल नहीं है, जहां इस तरह की प्रतियोगिता का आयोजन हो सके. राज्यस्तरीय प्रतियोगिता के लिए महज आठ स्कूलों को ही क्यों बुलाया गया?

इसे भी पढ़ेंःIAS, IPS और टेक्नोक्रेटस छोड़ गये झारखंड, साथ ले गये विभाग का सोफासेट, लैपटॉप, मोबाइल,सिमकार्ड और आईपैड

नाटक प्रतियोगिता में इन स्कूलों ने लिया भाग

डीएवी हेहल, रांची

डीपीएस स्कूल, रांची

madhuranjan_add

जेवीएम श्यामली स्कूल, रांची

संत जेवियर स्कूल, रांची

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय,  बुंडू

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, कांके

कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालय, नामकुम

प्लस टू मारवाड़ी हाई स्कूल, रांची

इन अधिकारियों की देखरेख में हुई राज्य स्तरीय प्रतियोगिता

राज्य स्तरीय नाटक प्रतियोगिता के दौरान स्कूल साक्षरता विभाग के उप-सचिव सुरेश कुमार चौरासिया, जिला शिक्षा अधिकारी, लोहरद्गा रतन कुमार महावर, झारखंड शिक्षा परियोजना के अभिनव कुमार समेत कई शिक्षा अधिकारी उपस्थित थे.

 

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Averon

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: