JharkhandLead NewsRanchi

डेढ़ साल से है बंद है राज्य के एकमात्र पनबिजली प्लांट की एक यूनिट

सिकिदरी हाईडल पावर प्लांट की यूनिट के स्टार्टर में है खराबी

Ranchi: करोड़ों रुपये खर्च करके बने सिकिदरी हाईडल पावर प्लांट की एक यूनिट पिछले डेढ़ साल से बंद है. वो भी स्टार्टर में मामूली सी खराबी के कारण. सिकिदरी हाईडल पावर प्लांट राज्य का एकमात्र पनबिजली स्रोत है. इसके दो यूनिटों से 65-65 मेगावाट बिजली उत्पादन होता है.

इसे भी पढ़ें:छात्रों को नहीं मिला सितंबर तक का चावल और पैसा

यूनिट टू भी दरार आने के कारण हुआ था बंद

यूनिट वन पिछले साल जून महीने से बंद है. जबकि यूनिट टू में पानी भरने से दरार आने के कारण बंद हुआ था. हालांकि यूनिट टू को निगम ने शुरू किया. लेकिन यूनिट वन अब तक बंद है. जिससे बिजली उत्पादन प्रभावित है.

बता दें कि राज्य में कुल बिजली खपत 12 सौ मेगावाट है. जो अन्य स्रोतों से ली जाती है. ऐसे में एक यूनिट का बंद होने से बिजली खरीद पर असर पड़ रहा है.

दो बार मिल चुकी है वित्तीय सहमति

ऊर्जा उत्पादन निगम की ओर से सिकिदरी प्लांट की यूनिट की मरम्मत करने के लिये पिछले साल दो बार वित्तीय सहमति दी गयी. दोनों प्रस्ताव नवंबर और दिसंबर के हैं. जिसमें एक बार छह लाख और दूसरी बार सात लाख रुपये खर्च को सहमति दी गयी थी. इसके बाद भी यूनिट को नहीं बनाया गया. जबकि यूनिट टू को निगम ने इस साल लॉकडान के बाद शुरू किया. लेकिन पानी कम होने के कारण प्लांट शुरू नहीं किया गया. सितंबर के बाद से यूनिट टू शुरू है. वहीं यूनिट वन के लिये इंजीनियर बुलाने के बाद भी काम शुरू नहीं हुआ.

इसे भी पढ़ें:RBI के आंकड़ों ने दिये अर्थव्‍यवस्‍था के पटरी पर लौटने के संकेत…

प्रबंधन ने कहा दिसंबर के बाद शुरू होगा मरम्मत कार्य

पिछले दिनों ऊर्जा उत्पादन निगम लिमिटेड के एमडी ने प्लांट का दौरा किया था. इस दौरान उन्होंने प्लांट की पूरी जानकारी ली. साथ ही प्रबंधन को जल्द से जल्द प्लांट शुरू करने का निर्देश दिया. सिकिदरी के प्रोजेक्ट मैनेजर प्रदीप ने बताया कि बीच में काम कोविड-19 के संक्रमण कारण भी बंद रहा. स्टार्ट में खराबी है. अब दिसंबर से मरम्मत की जायेगी. इन्होंने कहा कि प्लांट जल्द से जल्द शुरू किया जायेगा.

इसे भी पढ़ें:12वीं पास हैं तो सेंट्रल गवर्मेंट में नौकरी के लिए करें अप्लाई

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: