न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भारत हॉकी में विश्व के सर्वश्रेष्ठ देशों में से एक : पाकिस्तान पूर्व कप्तान

पाकिस्तान के लिए सर्वाधिक अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके पूर्व कप्तान ने यहां से बातचीत में कहा कि विश्व कप भारत में हो रहा है

117

Melbourne : भारत को हॉकी खेलने के लिए सर्वश्रेष्ठ देशों में से एक बताते हुए पाकिस्तान के पूर्व कप्तान वसीम अहमद ने कहा कि खेल को लेकर भारतीयों के उत्साह के कारण इस साल के आखिर में होने वाला विश्व कप बेहद सफल साबित होगा.

पाकिस्तान के लिए सर्वाधिक अंतरराष्ट्रीय मैच खेल चुके पूर्व कप्तान ने यहां से बातचीत में कहा कि विश्व कप भारत में हो रहा है और मुझे लगता है कि भारत दुनिया के सर्वश्रेष्ठ मेजबानों में से एक है. वहां बड़ी तादाद में लोग हाकी देखने आते हैं और अच्छी मीडिया कवरेज भी होती है. प्रायोजकों की भी कोई कमी नहीं है. इससे हाकी वहां काफी कामयाब है.

मुझे हमेशा भारत में खेलने में बहुत मजा आया : पूर्व कप्तान

उन्होंने कहा, भारत में लोग पाकिस्तानी हॉकी खिलाड़ियों को खेलते देखना पसंद करते हैं. मुझे हमेशा भारत में खेलने में बहुत मजा आया और इतनी इज्जत और प्यार मिला कि कभी लगा ही नहीं कि हम दूसरे देश में खेल रहे हैं. भारत हॉकी खेलने के लिये सर्वश्रेष्ठ स्थानों में से एक है.

विश्व कप 28 नवंबर से 16 दिसंबर तक भुवनेश्वर में खेला जायेगा जो पहले एफआईएच चैम्पियंस ट्राफी और हाकी विश्व लीग की मेजबानी कर चुका है. भुवनेश्वर में हाकी को लेकर क्रेज का आलम यह था कि एफआईएच विश्व लीग फाइनल्स के दौरान पिछले साल भारत और अर्जेंटीना के बीच भारी बारिश में खेले गए सेमीफाइनल मैच के दौरान दर्शक स्टेडियम से हिले नहीं.

वसीम ने यह भी कहा कि भारतीय हॉकी और हॉकी के ढांचे में काफी सुधार आया है.

इसे भी पढ़ें : शायद ही कोई भारतीय हो, जिसे सशस्त्र बलों, सेना के जवानों पर गर्व न हो : मोदी

भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय हॉकी बहाल हो

उन्होंने कहा, भारतीय टीम के प्रदर्शन में काफी सुधार आया है और वहां हाकी का ढांचा भी बेहतर हुआ है. हरेंद्र पा जी (हरेंद्र सिंह) के कोच बनने के बाद से वे बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं. एशियाई खेलों में बदकिस्मती से स्वर्ण पदक चूक गए.

वसीम आस्ट्रेलिया में शीर्ष स्तर की विक्टोरिया राज्य प्रीमियर लीग में सेंट खिल्डा क्लब के लिये खेलते हैं जिसने इस साल खिताब जीता. वह क्लब के सहायक कोच भी हैं और विक्टोरिया अकादमी तथा आस्ट्रेलियाई स्कूलों के शिविरों में भी कोचिंग करते हैं.

उन्होंने कहा, मेरा मानना है कि दोनों देशों को एक दूसरे से द्विपक्षीय श्रृंखलायें खेलनी चाहिये. इससे लोगों और प्रायोजकों की हाकी में दिलचस्पी भी बढेगी। पाकिस्तान को इसकी सख्त जरूरत है.

इसे भी पढ़ें : लखनऊ में एप्पल कंपनी के एरिया मैनेजर की हत्या पर केजरीवाल का ट्वीट, हिंदू था फिर क्‍यों…

ओल्टमेंस ने गलत समय पर दिया इस्तीफा 

विश्व कप में पाकिस्तान की संभावनाओं के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि पाकिस्तान को कठिन पूल मिला है और कोच रोलेंट ओल्टमेंस के इस्तीफे से उसकी राह दुश्वार हो गई है.

उन्होंने कहा कि मुझे पाकिस्तान से विश्व कप में किसी चमत्कारिक प्रदर्शन की उम्मीद नहीं है क्योंकि उसे कठिन पूल मिला है. उसे मलेशिया को हराकर पूल में तीसरे स्थान पर रहना होगा ताकि क्रासओवर खेल सके. ओल्टमेंस के जाने के बाद यह मुश्किल हो गया है.

उन्होंने कहा, ओल्टमेंस ने गलत समय पर इस्तीफा दे दियाय वह अच्छा काम कर रहे थे लेकिन एशियाई चैम्पियंस ट्राफी और विश्व कप से ठीक पहले उनके जाने से पाकिस्तान हॉकी को नुकसान होगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Open

Close
%d bloggers like this: