Crime NewsJharkhandRanchi

एक लाख का इनामी टीपीसी उग्रवादी मुकेश महतो ने पुलिस के समक्ष किया आत्मसमर्पण

Ranchi: एक लाख के इनामी टीपीसी उग्रवादी मुकेश कुमार महतो ने रांची पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया. मुकेश कुमार महतो मूल रूप से सिकीदरी थाना क्षेत्र सांडी गांव के रहने वाले हैं. मुकेश कुमार महतो वर्ष 2015 में टीपीसी उग्रवादी संगठन में शामिल हुआ था. रांची जिला के विभिन्न थानों में करीब 6 मामले में वह फरार चल रहा था. लंबे समय से पुलिस को मुकेश कुमार महतो की तलाश थी. सुरेंद्र पॉलिसी के तहत मुकेश कुमार महतो ने पुलिस के समक्ष आज आत्मसमर्पण कर दिया. आत्मसमर्पण कराने में सिकीदरी थाना प्रभारी प्रवीण सिन्हा महत्वपूर्ण ने भूमिका निभायी.

 मुख्यधारा से भटके लोग करें सरेंडर

टीपीसी उग्रवादी मुकेश कुमार महतो के सरेंडर करने के दौरान ग्रामीण एसपी आशुतोष शेखर ने कहा कि जो भी लोग मुख्यधारा से भटक कर टीपीसी, नक्सली और पीएलएफआई संगठन में शामिल हुए हैं वो सरकार की  सरेंडर पॉलिसी का लाभ उठा कर मुख्य धारा में वापस आयें. और अपना भविष्य बनायें. हम लोग ऐसे लोगों का साथ देंगे.

Catalyst IAS
SIP abacus

 हत्या करने के बाद संगठन हुआ था शामिल

Sanjeevani
MDLM

आत्मसमर्पण करने के दौरान मुकेश कुमार महतो ने कहा कि वर्ष 2015 में एक व्यक्ति की हत्या करने के बाद संगठन के कुछ लोगों के कहने पर मैं टीपीसी संगठन में शामिल हो गया था. पांच साल तक की टीपीसी संगठन के लिए काम करने के बाद एहसास हुआ कि टीपीसी की जो पूर्व में विचारधारा थी वो आज नहीं है. लोगों का यहां पर शोषण हो रहा था. संगठन के बड़े लोग लेवी वसूल कर अपनी संपत्ति बढ़ा रहे हैं और अपने बच्चों को अच्छे स्कूल में पढ़ाई करवा रहे हैं. लेकिन संगठन में काम करने वाले लोगों की कोई पूछ नहीं है. जिसके चलते मेरा टीपीसी संगठन से मोहभंग हो गया और मैंने सरेंडर करने का निर्णय लिया. सरेंडर कर  अच्छा लग रहा है. आगे अपना भविष्य समाज में रहकर बनाऊंगा.

 कई कांडों में फरार चल रहा था मुकेश कुमार महतो

मुकेश कुमार महतो ने वर्ष 2014  में रांची के लालजी हिरजी रोड में महेंद्र करमाली की हत्या कर दी थी. वर्ष 2015 में मुकेश कुमार महतो के द्वारा सिकिदरी थाना क्षेत्र के जलिमा गांव में लेवी का पैसा नहीं देने के कारण अपने अन्य साथियों के साथ वनदेवी स्टोन क्रेशर पर जाकर वहां खड़े ट्रैक्टर में आग लगा दिया था. क्रेशर कर्मियों के साथ मारपीट भी की गयी थी. ओरमांझी थाना क्षेत्र में रेलवे साइडिंग के पास जाकर फायरिंग करके दहशत फैलाना,  ओरमांझी थाना क्षेत्र में नवनिर्मित कस्तूरबा बालक विद्यालय में लेवी के लिए अपने अन्य साथियों के साथ फायरिंग करना, ओरमांझी थाना क्षेत्र में रोड निर्माण कार्य स्थल पर लेवी के लिए मजदूरों से मारपीट करते हुए काम बंद करवाना और सिकिदरी थाना में एक और मामला दर्ज है. इन सभी मामले में मुकेश कुमार महतो फरार चल रहा था.

इसे भी पढ़ेंः टेंपो पलटने से गुप्ता धाम से लौट रहे एक श्रद्धालु की मौत, चार जख्मी

Related Articles

Back to top button