JharkhandRanchi

वायु प्रदूषण को कम करने के उद्देश्य से रांची शहर में लगाये जायेंगे एक लाख पौधे

Ranchi : राजधानी रांची में वायु प्रदूषण कम करने के लिए शहर के अंदर एक लाख पौधे लगाये जायेंगे. वहीं शहर के महत्वपूर्ण जगहों पर पेवर ब्लॉक लगाये जायेंगे. इसके लिए 15वें वित्त आयोग से प्राप्त राशि का इस्तेमाल किया जायेगा.

नगर आयुक्त की अध्यक्षता में शनिवार को हुई बैठक में शहर को साफ-सुथरा एवं वायु प्रदूषण से मुक्त बनाने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाने की चर्चा हुई.

इस बैठक में विभिन्न प्रस्ताव लाने का मकसद भारत सरकार द्वारा प्रस्तावित एंबिएंट एयर क्वालिटी इंडेक्स में सुधार करना है. बैठक में जो बातें सामने आयी हैं उन्हें प्रस्ताव के रूप में निगम परिषद में लाया जायेगा.

प्रस्ताव को एचएलएमसी की स्वीकृति मिलते ही भारत सरकार को भेजा जायेगा. बैठक में उप नगर आयुक्त, सहायक नगर आयुक्त, मुख्य अभियंता, अधीक्षण अभियंता, कार्यपालक अभियंता, नगर निवेशक, सहायक लोक स्वास्थ्य पदाधिकारी, कार्यालय अधीक्षक, नगर अभियान प्रबंधक उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें : प. बंगाल चुनाव: BJP ने ममता के खिलाफ शुभेंदु अधिकारी को उतारा, 57 उम्मीदवारों की लिस्ट जारी

इन बिंदुओं पर बनी सहमति

  • मोरहाबादी मैदान, राज भवन के चारों ओर, मुख्यमंत्री निवास के सामने एवं हरमू मुक्तिधाम से बिरसा चौक तक रास्ते के किनारे एवं बिरसा चौक पर पेवर ब्लॉक लगाया जायेगा.
  • लगने वाले पेवर ब्लॉक में पैदल चलनेवालों एवं साइकिल चलानेवालों के लिए आयरन बोलार्ड्स लगाये जायेंगे. ताकि धूल की मात्रा कम हो एवं pm10 के स्तर में सुधार लाया जा सके.
  • सिटी बस को डीजल से सीएनजी में परिवर्तित किया जायेगा.
  • शहर के अंदर एक लाख पेड़ लगाये जाने का निर्णय लिया गया. इसके लिए माननीय उच्च न्यायालय के नये भवन के इर्द-गिर्द, नये विधानसभा के इर्द-गिर्द, एचईसी क्षेत्र में पौधारोपण करने का निर्णय लिया गया.
  • नागरिकों से अपील करने का भी निर्णय लिया गया कि अगर वे चाहें तो निगम उनकी भूमि पर पौधारोपण करेगा. इस संबंध में वन विभाग के पदाधिकारियों से तकनीकी परामर्श ली जायेगी.
  • छोटी-बड़ी नालियों की सफाई के लिए सुपर सकर मशीन खरीदने का भी निर्णय लिया गया.
  • ओ एंड एम के साथ भाड़े पर मेकेनिकल स्वीपिंग मशीन एवं वाटर स्प्रिंकलर मशीन खरीदने का निर्णय लिया गया.
  • शहर में वायु प्रदूषण का स्तर जानने के लिए चयनित स्थलों पर एंबिएंट एयर क्वालिटी मॉनिटरिंग स्टेशन स्थापित करने पर विचार किया गया.

इसे भी पढ़ें : तमिलनाडु विधानसभा चुनाव: ‘आहत’ हैं कांग्रेस अध्यक्ष, डीएमके से गठबंधन पर संशय

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: