JharkhandRanchiTODAY'S NW TOP NEWS

राजद की तर्ज पर आप भी दो फाड़ की कगार पर, डैमेज कंट्रोल के लिए दिल्ली जा रहे प्रदेश संयोजक

विज्ञापन

Akshay Kumar Jha

Ranchi: यूं तो आप पार्टी की झारखंड में आधार ना के बराबर है. ना ही एक विधायक है और ना ही सांसद. लेकिन फिर भी कई जन मुद्दों को लेकर पार्टी को मोर्चा संभालते देखा जाता रहता है. सड़क पर कम और सोशल मीडिया में सक्रियता की बात करें तो ज्यादा है. ऐसे में पार्टी को मजबूत करने में लगे आप पार्टी से जुड़े लोगों में शनिवार को प्रदेश समिति की बैठक के बाद हताशा और निराशा है. वजह है आलाकमान का एक फरमान. फरमान ऐसा जिससे राजनीति कर रहे आप के कार्यकर्ताओं के वजूद पर ही सवाल उठने लगा है.

कयास लगाया जा रहा है कि अगर पार्टी ने जल्द ही इस फरमान में बदलाव नहीं लाया तो, पार्टी बुरी तरह से डैमेज हो सकती है. और इसी डैमेज को कंट्रोल करने के लिए प्रदेश समिति की बैठक में एक प्रस्ताव पारित हुआ है. जिसके बाद प्रदेश संयोजक जयशंकर चौधरी दिल्ली जाने के लिए टिकट बंदोबस्त कर रहे हैं.

advt

इसे भी पढ़ें – दर्द-ए-पारा शिक्षक: उधार पर चल रहा जुदिका का परिवार, तंगी ने सामाजिक सम्मान भी छीना

आलाकमान ने 8-10 सीटों पर चुनाव लड़ने का सुनाया फरमान

बीते शनिवार को पार्टी की तरफ से आपातकालीन प्रदेश समिति की बैठक बुलायी गयी. बैठक में पार्टी झारखंड मामलों के प्रभारी और पार्टी के राष्ट्रीय सचिव दुर्गेश पाठक (अरविंद केजरीवाल के करीबी) का संदेश सुनाया गया. जो बैठक में मौजूद प्रदेश स्तर के सदस्यों को फरमान की तरह लगा. दरअसल फरमान यह था कि आप पार्टी आने वाले विधानसभा चुनाव में सिर्फ 8-10 सीटों पर ही चुनाव लड़े. वो भी ऐसी सीटों से चुनाव लड़े, जहां से उम्मीदवार जीत जाए या कड़ी टक्कर दे सके.

बैठक में जैसे ही इस बात को रखा गया. मौजूद सदस्यों ने इस बात का विरोध किया. उनका कहना था कि आखिर इतने दिनों से सभी सदस्य अपने-अपने क्षेत्र में चुनाव की तैयारी कर रहे हैं. अचानक से अगर उन्हें चुनाव ना लड़ने को कहा जाएगा, तो उनकी राजनीतिक बिसात ही खत्म हो जाएगी. चार घंटे चली, इस बैठक के बाद सदस्यों ने एक प्रस्ताव पारित किया. अब इस प्रस्ताव को लेकर प्रदेश संयोजक जयशंकर चौधरी दिल्ली जाने की तैयारी कर रहे हैं.

सदस्यों का कहना था कि दिल्ली से इस तरह अचानक से फरमान जारी करने के बजाय दिल्ली के अधिकारी झारखंड आकर सभी से बात करें. तभी किसी नतीजे तक पहुंचे. खबर यह भी है कि खुद प्रदेश संयोजक ने कहा है कि अगर वो इस फैसले को नहीं बदल पाए तो संयोजक पद से इस्तीफा दे देंगे.

adv

इसे भी पढ़ें – निर्भया हत्याकांड: पांच दिनों की सीबीआइ रिमांड पर आरोपी राहुल रॉय, खुलेंगे कई राज

हां मैं दिल्ली जा रहा हूं : जयशंकर चौधरी (प्रदेश संयोजक)

इस मामले पर न्यूज विंग ने प्रदेश संयोजक जयशंकर चौधरी से बात की. उन्होंने दिल्ली जाने की बात स्वीकारते हुए कहा कि अभी फाइनल नहीं हुआ है कि पार्टी झारखंड में कितनी सीटों पर चुनाव लड़ेगी. इसी बात के लिए हमलोग दिल्ली जा रहे हैं. दिल्ली में अरविंद केजरीवाल जी से मुलाकात करने के बाद ही इस बारे में कुछ कहा जा सकता है.

हमलोगों ने मुलाकात की लिए समय मांगा है. जैसे ही समय मिलेगा हमलोग रवाना हो जाएंगे. चुनाव में जीत के दावे पर उन्होंने कहा कि फिलहाल जीत का दावा तो मैं नहीं कर सकता, लेकिन हमारी 50 फीसदी सीटों पर चुनाव लड़ने की स्थिति है. उन्होंने यह भी कहा कि कुछ लोग हमारे संपर्क में हैं, जो पार्टी ज्वाइन करना चाह रहे हैं. इनमें से कुछ बीजेपी के और कुछ झामुमो के भी लोग हैं.

इसे भी पढ़ें – सरायकेला में मॉब लिंचिंगः नफरत की आग ने आपके अपनों को हत्यारा बना ही दिया !

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button