DumkaJharkhand

तीसरी सोमवारी को बासुकीनाथ धाम में डेढ़ लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने किया जलार्पण

Dumka: सावन की तीसरी सोमवारी को फौजदारी बाबा बासुकीनाथ के दरबार में आस्था और विश्वास का सैलाब उमड़ पड़ा. पूरे एक माह तक चलने वाले श्रावणी मेले के तीसरी सोमवारी को बासुकीनाथ धाम पूरी तरह से केसरिया रंग में सरोबार दिखा. देर शाम तक यहां डेढ़ लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने जलार्पण किया. अहले सुबह पुरोहित पूजा के बाद 2 बजकर 45 मिनट पर अर्घा के माध्यम से जलार्पण जैसे ही शुरु हुआ, श्रद्धालुओं की कतार बढ़ती चली गयी. चाक चौबंद सुरक्षा की कड़ी व्यवस्था के बीच बाबा पर श्रद्धालु पूरी आस्था के साथ शांतिपूर्ण ढंग से कतारबद्ध होकर जलार्पण किया. लाल पीले एवं केसरिया रंग के वेष में बोल बम एवं हर हर महादेव के जयघोष के साथ श्रद्धालु हाथ में गंगाजल लिए बाबा मंदिर की ओर जाते दिखे.

इसे भी पढ़ें:Jharkhand Assembly Monsoon Session: सुखाड़ पर मंत्री बादल ने कहा- अब तक की बारिश चिंता का विषय, स्थिति पर नजर

सावन की तीसरी सोमवारी को लेकर शिवगंगा के आसपास एवं पूरे मेला क्षेत्र में श्रद्धालुओं का सैलाब देर रात से ही दिखने लगा था. सभी श्रद्धालु देर रात्रि से ही कतारबद्ध होना प्रारंभ कर चुके थे. तीसरी सोमवारी को श्रद्धालुओं के आने वाले सैलाब का पूर्वानुमान लग चुका था. सूचना जनसम्पर्क विभाग द्वारा बनाये गये सभी निःशुल्क आवासन केन्द्र तथा टेंट सिटी पूरी तरह से भरा दिखाई पड़ रहा था.

Catalyst IAS
ram janam hospital

The Royal’s
Pushpanjali
Sanjeevani
Pitambara

डीसी ने खुद रविवार की देर रात से ही मेला क्षेत्र में मोर्चा संभाल रखा था. मेला क्षेत्र का निरीक्षण कर प्रतिनियुक्त अधिकारियों को निदेश दे रहे थे. साथ ही सीसीटीवी के माध्यम से रुट लाइन सहित महत्वपूर्ण स्थलों पर नजर रख रहे थे.

इसे भी पढ़ें:होमगार्ड के जवानों को पुलिस कर्मियों के अनुरूप मिले वेतन और भत्ता: अंबा प्रसाद

किये गए थे व्यापक इंतजाम

तीसरी सोमवारी को श्रद्धालुओं की अथाह जन सैलाब को देखते हुए सूचना सहायता कर्मी लगातार अपने कर्तव्य पर दिख रहे थे. ध्वनि विस्तारक यंत्र के माध्यम से बिछड़ों को मिलाया जा रहा था. सभी सूचना सहायता शिविर में श्रद्धालुओं की भारी भीड़ दिखाई दे रही थी.

बाबा पर जलार्पण के पूर्व बासुकीनाथ स्थित शिवगंगा में श्रद्धालु आस्था की डुबकी लगाते हैं. इसे ध्यान में रखते हुए देर रात से ही एनडीआरएफ की टीम शिवगंगा में श्रद्धालुओं की हर गतिविधि पर नजर बनाये हुए थे ताकि किसी भी प्रकार की परेशानी में वे श्रद्धालुओं को मदद कर सकें.

इसे भी पढ़ें:गिरिडीह के जमुआ में मिला मंकीपॉक्स का संदिग्ध मरीज, स्वास्थ्य विभाग अलर्ट

Related Articles

Back to top button