DhanbadJharkhand

सिंह मेंशन और रघुकुल की टेंशन आयी सड़क पर, साइडिंग जा रहे एक दर्जन हाइवा के पहियों से निकाली हवा, ट्रांसपोर्टिंग ठप

Dhanbad : मंगलवार को बोर्रागढ़ बीएनआर साइडिंग के समीप रंगदारी को लेकर सिंह मेंशन और रघुकुल समर्थकों के बीच झड़प हुई थी जो बुधवार को सड़क पर आ गयी.

कोयला लोडकर बीएनआर साइडिंग जा रहे हाइवा के टायर से हवा निकाल दी गयी. साथ ही ड्राइवर और खलासी को धमकी दी गयी. भालगड़ा कोलियरी के कांटा घर को भी बंद कर दिया गया. जिस कारण ट्रांसपोर्टिंग ठप हो गयी.

इसे भी पढ़ेंः सरकार 25 मई से शुरू करेगी हवाई सेवा, उड्डयन मंत्री ने ट्वीट करके दी जानकारी

मेंशन समर्थक ने कहा – विधायक के इशारे पर रंगदारी के लिए किया जा रहा है ऐसा काम

इसे लेकर सिंह मेंशन के जनता मजदूर संघ समर्थक अमर सिंह ने रघुकुल समर्थकों पर आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि वे लोग झरिया विधायक पूर्णिमा सिंह के इशारे पर रंगदारी को लेकर ऐसी हरकत कर रहे हैं.

उन्होंने कहा कि झरिया के इंदिरा चौक के समीप लगभग एक दर्जन हाईवा, जो कोयला लोडकर बीएनआर साइडिंग जा रही थी, के टायर की हवा निकाल दी गयी. साथ ही ड्राइवर और खलासी के साथ मारपीट भी गयी. और उन्हें धमकाया भी गया.

इसे भी पढ़ेंः कैबिनेट का फैसला: राज्य के 6 जिलों में खुलेंगे नये आईटीआई कॉलेज, सभी में 100 बेड का होगा हॉस्टल

रघुकुल समर्थक ने कहा – साफ छवि की हैं विधायक पूर्णिमा सिंह

सड़क पर खड़े एक गुट के लोग और पुलिस.

मामले की सूचना मिलते ही झरिया पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची और मामले की जांच में जुट गयी. वहीं अमर सिंह ने बताया कि कल भी हाइवा के ड्राइवर और खलासी को धमकी दी गयी थी. साथ ही एक ट्रांसपोर्टर को भी धमकाया गया था.

उन्होंने कहा कि इससे क्षेत्र में तनाव की स्थिति बन रही है. हमलोग भी इसका जवाब देने के लिए तैयार हैं. वहीं रघुकुल समर्थक और जनता मजदूर संघ बच्चा सिंह गुट के गुड्डू सिंह ने कहा है कि झरिया विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह की छवि साफ है और रघुकुल समर्थक इस तरह की घटना को अंजाम नहीं दे सकते हैं.

प्रशासन को उठाने होंगे कड़े कदम

ऐसे तो सिंह मेंशन समर्थक और रघुकुल समर्थक के लोग एक दूसरे पर आरोप लगा रहे हैं. लेकिन मंगलवार से जो तनाव की स्थिति उत्पन्न हुई है, वह बड़े खूनी संघर्ष की आशंका जता रही है.

इसे लेकर प्रशासन को पूरी तरह से अलर्ट रहना पड़ेगा. साथ ही जल्द ही दोनों ओर से जो भी आरोपी हैं उनको गिरफ्तार कर कार्रवाई करनी होगी. झरिया खूनी संघर्ष की स्थिति उत्पन्न न हो इसके लिए प्रशासन को कड़े कदम उठाने होंगे.

इसे भी पढ़ेंः ये त्रासदी ऐसी है कि सिर्फ सरकार के भरोसे मत रहिये, सक्षम हैं तो मदद के लिए आगे बढ़िये

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close