DeogharJharkhandLead NewsRanchiTOP SLIDER

उपायुक्त भजंत्री के निर्देश पर गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ एक दिन में चार थानों में पांच प्राथमिकी दर्ज

मधुपुर उपचुनाव में सांसद द्वारा किये गये ट्वीट के आधार पर दर्ज हुई है प्राथमिकी

Deoghar: हेमंत सरकार से छत्तीस का आंकड़ा रखने वाले गोड्डा से भाजपा सांसद निशिकांत दुबे के खिलाफ एक दिन में देवघर के चार विभिन्न थानों पांच प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री के निर्देश पर मधुपुर विधानसभा उपचुनाव के दौरान सांसद निशिकांत के द्वारा सोशल मीडिया पर किये विभिन्न ट्वीट के आलोक में किया गया है. सांसद के खिलाफ सिटी थाना में एक, देवीपुर थाना में दो, मधुपुर थाना में एक व चितरा थाना में एक प्राथमिकी दर्ज करायी गई है. सभी प्राथमिकी अलग-अलग अधिकारियों के बयानों पर दर्ज कराई गई है.

इसे भी पढ़ेंःराजधानी में कोविड-19 के गाइडलाइन का उल्लंघन,  छह प्रतिष्ठानों को नोटिस

दरअसल, मधुपुर उपचुनाव के दौरान सांसद निशिकांत ने डीसी की कार्यशैली पर सवाल खड़ा करते हुए कई ट्विट किये थे, उन्हीं को आधार बनाते हुए मामले दर्ज करवाये गये हैं. सिटी थाना में डीपीआरओ रवि कुमार के बयान पर, देवीपुर थाना में देवीपुर बीडीओ अभय कुमार के बयान पर 2 प्राथमिकी दर्ज की गई है. इसी तरह मधुपुर थाना में बीडीओ राजीव कुमार सिंह के बयान पर व चितरा थाना में सारठ बीडीओ पल्लवी सिन्हा के बयान पर प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है.

 

सिटी थाने में दर्ज मामले में गोड्डा सांसद निशिकांत दुबे द्वारा 11 अप्रैल 2021 को अपने वेरीफाइड टि्ीटर अकाउंट एट द रेट निशिकांत दुबे से ट्वीट कर उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री को झारखंड मुक्ति मोर्चा के कार्यकर्ता की तरह विधानसभा चुनाव में लगे होने की बात बताई गई है. झारखंड मुक्ति मोर्चा के नाम पर कोई केस दर्ज नहीं हुआ और गोड्डा के विज्ञापन पर भाजपा पर झूठा केस दर्ज करने की धमकी सहित मंजूनाथ भजंत्री को देवघर उपायुक्त पद से हटाया जाना चाहिए से संबंधित एक पोस्ट किया गया था. इस प्रकार से सोशल मीडिया पर किए गए पोस्ट उपायुक्त के उपर अनैतिक दबाव बनाने के दृष्टिकोण से किया हुआ प्रतीत होता है. इसके साथ ही विभिन्न मीडिया संस्थानों में प्रकाशित विज्ञापनों पर भी आपत्ति जताई गई है. इधर, प्राथमिकी दर्ज होने के साथ ही पुलिस ने सभी मामलों की जांच शुरू कर दी है.

क्या कहते हैं सांसद निशिकांत

इस मामले के आलोक में सांसद निशिकांत दुबे ट्विट किया है. जिसकी बानगी इस तरह है…सभी कार्यकर्ताओं से अनुरोध है कि शांति बनाये रखें, जितना केस मुकदमा उतनी ही खुशी मनाइये. देवघर जिला उपायुक्त बालसुलभ हरकत करते रहते हैं, हमारा और आपका मनोरंजन होता है. उनका दूध-भात. जय भाजपा, विजयी भाजपा. मधुपुर चुनाव इस उपायुक्त ने कैसे हराया यह उसकी बानगी है. अबकी बार दो लाख वोट.

 

उपायुक्त का रवैया व्यक्ति विशेष के प्रति विद्वेष : दीपक प्रकाश

मामला प्रकाश में आने के बाद प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दीपक प्रकाश ने भी प्रतिक्रिया जाहिर की है. उन्होंने कहा है कि राज्य सरकार के इशारे पर डीसी ने सांसद निशिकांत के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है. यह दुर्भाग्यपूर्ण है. उपायुक्त का यह रवैया व्यक्ति विशेष के प्रति उनके विद्वेष भाव का परिचायक है.

Advt

Related Articles

Back to top button