न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

SC में चौकीदार चाेर है वाले बयान पर राहुल के खेद जताने पर सीतारमण ने कहा, राहुल की विश्वसनीयता खत्म हो गयी है

राफेल मामले में राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट में जवाब दायर कर चौकीदार चौर है वाले अपने बयान पर खेद जता कर भाजपा  को एक मौका थमा दिया.

50

NewDelhi : राफेल मामले में राहुल गांधी ने सुप्रीम कोर्ट में जवाब दायर कर चौकीदार चौर है वाले अपने बयान पर खेद जता कर भाजपा  को एक मौका थमा दिया. भाजपा अब कांग्रेस अध्यक्ष पर हमलावर हो गयी है.  बता दें कि रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी और राहुल के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में शिकायत दर्ज कराने वाली भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने नोटिस पर दिये गये राहुल के जवाब को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष पर निशाना साधा है.

रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस मामले पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की और कहा कि राहुल गांधी ने शपथपत्र दाखिल कर सिर्फ राजनीतिक फायदे के लिए खेद जताया है. अगर उन्होंने ऐसा किया है तो इससे साफ है कि उन्हें कोर्ट का डर है. निर्मला ने कहा कि राहुल गांधी की विश्वसनीयता खत्म हो गयी है.

इसे भी पढ़ेंःबेगूसराय: कन्हैया के समर्थकों और ग्रामीणों में झड़प, लोगों को घर में घुसकर पीटा

सुप्रीम कोर्ट का अपमान करने वालों को जनता माफ नहीं करेगी

निर्मला ने कहा कि राहुल गांधी लगातार सार्वजनिक जीवन में रहते हुए झूठ पर झूठ बोल रहे हैं और यह दुख का विषय है. सीतारमण ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को एक ऐसा अध्यक्ष चला रहा है जो गलतबयानी पर निर्भर रहता है. इस क्रम में स्मृति ईरानी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि सुप्रीम कोर्ट का अपमान करने वालों को जनता माफ नहीं करेगी. स्मृति अमेठी से राहुल गांधी के खिलाफ एक बार चुनावी मैदान में उतरीं हैं. पिछले चुनाव में भी स्मृति और राहुल के बीच टक्कर थी, हालांकि नतीजों में कांग्रेस अमेठी का किला बचाने में सफल हो गयी थी.

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि राहुल गांधी का पोल खुल गयी है और भाजपा को इसकी खुशी है. जावड़ेकर ने कहा कि वह लगातार झूठ बोल रहे हैं और यह बात उनके जवाब से साबित भी हो गयी है. राहुल गांधी के खिलाफ अवमानना की शिकायत करने वाली मीनाक्षी लेखी ने जवाब पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह दोष की स्वीकार्यता है. इस वक्त में कोर्ट की संप्रभुता बचाये रखने की जरूरत है. पीएम  नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए राहुल गांधी ने सार्वजनिक रूप से कहा था कि अब तो सुप्रीम कोर्ट ने भी कह दिया है कि चौकीदार चौर है, जबकि कोर्ट की ओर से सीधे तौर पर ऐसी कोई टिप्पणी नहीं की गयी थी.

इसे भी पढ़ेंः ‘चौकीदार चौर है’ बोल पर राहुल ने जताया खेद, कहा- उत्तेजना में दिया बयान

Related Posts

दिल्ली विवि में एबीवीपी ने लगायी सुभाष चंद्र बोस, भगत सिंह के साथ सावरकर की प्रतिमा,एनएसयूआई ,आइसा का विरोध

कवलप्रीत कौर के अनुसार  एबीवीपी भगत सिंह और सुभाष चंद्र बोस की आड़ में सावरकर के विचारों को वैध बनाने की कोशिश कर रही है. यह कभी  स्वीकार नहीं  होगा.

SMILE

 सुप्रीम कोर्ट ने कभी नहीं कहा, चौकीदार चौर है

मीनाक्षी लेखी ने कांग्रेस अध्यक्ष के इसी बयान की शिकायत करते हुए इसे कोर्ट की अवमानना बताया था.  इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने राहुल गांधी को नोटिस जारी कर 23 अप्रैल तक जवाब देने के लिए कहा था. राहुल गांधी द्वारा सोमवार को दायर जवाब में कहा गया कि सुप्रीम कोर्ट ने कभी नहीं कहा, चौकीदार चौर है. राहुल ने माना कि उनकी ओर से यह बयान चुनाव प्रचार के दौरान उत्तेजना में दिया गया था और इसके लिए उन्हें खेद है. राहुल गांधी ने इस मामले में कोर्ट के रिकॉर्ड में आये बिना आगे से ऐसा कोई बयान न देने की भी बात कही है.

इसे भी पढ़ेंः टीवी डिबेट में लड़ कर मामला सलटाने कोर्ट में आ जाते हैं? स्मृति मानहानि केस को लेकर SC ने निरुपम से यह कहा

 कांग्रेस इस रुख पर कायम कि एक ही चौकीदार चोर है

SC के एक फैसले का हवाला देकर टिप्पणी करने के लिए राहुल गांधी द्वारा खेद प्रकट करने के बाद कांग्रेस ने सोमवार को कहा कि भाजपा इसको लेकर झूठ फैलाना बंद करे और वह अब भी अपने इस रुख पर कायम है कि एक ही चौकीदार चोर है. कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट कर कहा, झूठ की कोई सीमा नहीं होती. गलत सूचना के प्रसार का कोई सीमित दायरा नहीं होता.  सुप्रीम कोर्ट को दिये गये राहुल जी के जवाब को भाजपा की ओर से गलत ढंग से पेश करना ही अपने आप में अदालती प्रक्रिया की अवमानना है. उन्होंने कहा, मामला अदालत के विचाराधीन है, इसलिए इसपर अपना फैसला देना बंद करिए. हम फिर से दोहराते हैं-एक ही चौकीदार चोर है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: