न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

दिवाली की रात आकाश में दिखेगा दस का दम, घर पधारेंगी मां लक्ष्मी

74

Ranchi : घर रोशन हो, मां लक्ष्मी पधारें, यही कामना दिवाली में लोकबाग करते हैं. इससे इतर खुशियों का इजहार पटाखे जलाकर भी होता है. बुधवार को दिवाली है. सभी ने खुशियों के इजहार की तैयारी भी कर ली है. यूं कहें कि आकाश में दस का दम दिखेगा. ये दम पटाखे अपनी खूबियों के साथ दिखायेंगे. काशी, कोलकाता, यूपी से कई वेराइटी के पटाखे राजधानी के बाजार में उपलब्ध हैं. हालांकि, रात के आठ बजे से रात के 10 बजे तक ही पटाखे जलाने की इजाजत है, फिर भी किस्म-किस्म के पटाखे आकाश में दम दिखाने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेंगे.

mi banner add

इसे भी पढ़ें- अलर्ट : रात 8 बजे से पहले और 10 बजे के बाद पटाखे फोड़े, तो होगी कार्रवाई

10 साउंड से 100 साउंड के साथ रंग-बिरंगी रोशनी

बाजार में 10 साउंड से लेकर 100 साउंड तक के पटाखे उपलब्ध हैं. इसकी रंग-बिरंगी रोशनी फिजा को और रंगीन बनायेगी. दिवाली की रात नजारे देखते ही बनेंगे. दीये की रोशनी और बिजली के टिमटिमाते बल्ब भी पटाखों की रोशनी के साथ कदमताल करेंगे. अनारवाले पटाखे ज्वालामुखी का नजारा दिखायेंगे, तो रॉकेट अपने दम पर आकाश को भेदते हुए आगे बढ़ेगा. हालांकि, तेज आवाजवाले पटाखे जलाने की इजाजत तो नहीं दी गयी है, फिर भी रोशनीवाले पटाखे आकर्षक नजारा पेश करने में कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेंगे. पटाखा जलाने के लिए सिर्फ दो घंटे तक की ही इजाजत दी गयी है. बोर्ड ने अपने आदेश में कहा है कि तय समय सीमा के बाद पटाखा जलाने पर एन्वायरमेंटल प्रोटेक्शन एक्ट के तहत जुर्माना भी लगाया जा सकता है. यह जुर्माना एक लाख रुपये तक का हो सकता है. क्रिसमस और न्यू ईयर में सिर्फ 35 मिनट ही पटाखे जलाने की इजाजत दी गयी है. क्रिसमस और न्यू ईयर में रात के 11.55 बजे से 12.30 बजे रात तक ही पटाखे फोड़ सकते हैं.

Related Posts

गिरिडीह : बार-बार ड्रेस बदलकर सामने आ रही थी महिलायें, बच्चा चोर समझ लोगों ने घेरा

पुलिस ने पूछताछ की तो उन महिलाओं ने खुद को राजस्थान की निवासी बताया और कहा कि वे वहां सूखा पड़ जाने के कारण इस क्षेत्र में भीख मांगने आयी हैं

इसे भी पढ़ें- युवाओं के बीच नैतिकता का दीप जलाना जरूरी : डॉ सविता सिंह

सभी थाना प्रभारियों को सौंपी गयी है जिम्मेदारी

झारखंड राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मेंबर सेक्रेट्री राजीव लोचन बक्शी ने बताया कि 10 बजे रात के बाद पटाखे फोड़नेवालों पर नजर रखने की जिम्मेदारी सभी थाना प्रभारियों को दी गयी है. वहीं, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा जारी आदेश में कहा गया है कि लिथियम, आर्सेनिक, एंटीमनी, लीड और मरक्यूरी वाले पटाखे नहीं जलायें. ऐसे पटाखे बेचनेवालों पर कार्रवाई की जायेगी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: