JharkhandRanchi

नयी पेंशन स्कीम के राष्ट्रव्यापी विरोध में 1 दिसंबर को राज्य के डेढ़ लाख अराजपत्रित कर्मचारी लगायेंगे काला बिल्ला

Ranchi : नयी पेंशन योजना के विरोध में 1 दिसंबर को विरोध दिवस मनाया जायेगा. जिसका समर्थन झारखंड राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ ने किया है. महासंघ के अशोक कुमार सिंह ने कहा कि 2004 की तत्कालीन केंद्र सरकार ने पेंशन स्कीम में बदलाव किया.

जिसके तहत 2004 के बाद से नियुक्त सरकारी कर्मचारियों को पुरानी पेंशन स्कीम से वंचित कर नयी पेंशन स्कीम से जोड़ दिया गया है. इसके विरोध में यह दिवस मनाया जा रहा है. उन्होंने सरकार से मांग करते हुए कहा कि सभी कर्मचारियों में समानता और एकरूपता अपनायी जाये.

इसी के तहत केंद्र सरकार नयी पेंशन स्कीम रद्द करते हुए पुरानी पेंशन स्कीम लागू करे. अशोक कुमार सिंह के मुताबिक यह विरोध दिवस राष्ट्रीय स्तर पर मनाया जा रहा है. जिसे राष्ट्रीय स्तर पर पेंशन योजना का विरोध कर रही संगठनों की ओर से आहूत किया गया है.

इसे भी पढ़ें : एक दिसंबर से रांची के 23 क्रय केंद्रों में लिये जायेंगे धान, 2050 रुपये प्रति क्विंटल की दर निर्धारित

काला बिल्ला लगा कर करेंगे काम

उन्होंने बताया कि राष्ट्रव्यापी विरोध दिवस के दौरान कर्मचारी काला बिल्ला लगा कर काम करेंगे. राज्य में अराजपत्रित कर्मचारियों की संख्या लगभग डेढ़ लाख है. वहीं प्रदेश अध्यक्ष मनोज कुमार सिन्हा ने कहा कि शुरू से कर्मचारियों की मांग है कि पेंशन योजना रद्द की जाये.

कर्मचारियों की मांग है कि देश में एक संविधान एक विधान की स्थापना हो. महासंघ की ओर से मांग की गयी है कि सभी अराजपतित्रत कर्मचारी संवैधानिक तरीके से इस विरोध दिवस का समर्थन करें.

इसे भी पढ़ें : अरगोड़ा में सेक्स रैकेट का खुलासा, तीन महिलाओं सहित चार गिरफ्तार

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: