JharkhandRanchi

#FightAgainstCorona : सीएम ने आजसू की मांग पर कहा, ’8.75 लाख को मिली है मदद, हर झारखंडी की है फिक्र’

Ranchi :  देशव्यापी लॉकडाउन में फंसे झारखंड के प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए हेमंत सरकार ने कई कदम उठाएं है. जब देश में आवागमन बंद है, उस दौरान सोशल मीडिया से ही सरकार संबंधित राज्य सरकार से मिलकर मदद के रास्ते तैयार कर रही है. इसका रिजल्ट भी दिख रहा है. इसके बावजूद गिरीडीह के सांसद चंद्र प्रकाश चौधरी ने सरकार से प्रवासी मजदूरों को पहुंचाए जा रहे मदद की स्थिति स्पष्ट करने की मांग की है.

इसपर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने आंकड़े जारी कर गिरीडीह सांसद को बताया है कि दूसरे राज्यों में फंसे हर एक झारखंडी के प्रति सरकार फ़िक्रमंद है. लॉकडाउन की शुरुआत से ही सभी राज्य के सरकारों से सम्पर्क साध कई अधिकारी झारखंडियों को मदद पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं.

मुख्यमंत्री ने कहा है कि इसके लिए गुरुवार को सरकार एक मोबाइल ऐप भी लॉंच करने जा रही है. इस ऐप की मदद से सरकार बाहर फंसे सभी श्रमिकों के खातों में सहायता राशि भी उपलब्ध कराने का कार्य भी शुरू करेगी.

चंद्रप्रकाश चौधरी ने पूछा था कि कई असुरक्षा में तो नहीं है प्रवासी मजदूर

मुख्यमंत्री की ओर से जारी किया गया आंकड़ा.

बता दें कि गिरीडीह सांसद चंद्रप्रकाश चौधरी ने मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन से लॉकडाउन में देश के विभिन्न राज्यों में फंसे झारखंडी श्रमिकों, मजदूरों सरकार के स्तर पर मिल रही मदद की स्थिति स्पष्ट करने की मांग की थी. उन्होंने सरकार से पूछा था कि यह बताएं कि इन प्रवासी लोगों को राशन मिल रहा या नहीं. ऐसा तो नहीं कि वे असुरक्षा में रहने को विवश हैं.

8.75 लाख लोगों को पहुंचायी गयी है मदद

आंकड़ा जारी कर सांसद को बताया गया है कि अभी तक कुल 8.75 लाख लोगों को मदद पहुंचायी जा चूकी है. लॉकडाउन लगने के बाद बनाये गये कंट्रोल रूम में कुल 27624 प्रवासी मजदूरों ने फोन कर मदद की गुहार सरकार से लगायी. इससे करीब 8,75,467 लोगों को मदद मिली है. यह मदद पिछले 27 मार्च से पहुंचायी जा रही है.

इसे भी पढ़ेंः #Lockdown : रांची के कांके डैम से सटे इलाकों में भुखमरी के हालात, महज दो करछी खिचड़ी के लिए लग रही लंबी कतार

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: