Lead NewsNational

जयपुर में Omicron की धमक, साउथ अफ्रीका से लौटे एक ही परिवार के चार लोग कोरोना संक्रमित

Jaipur : कोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन ने दुनियाभर की टेंशन बढ़ा दी है. भारत में भी ओमिक्रॉन के दो केस सामने आए हैं. इसी बीच राजस्थान की राजधानी जयपुर में दक्षिण अफ्रीका से लौटे परिवार के चार सदस्य कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. ये सभी एक सप्ताह पहले ही जयपुर लौटे हैं.

इसे भी पढ़ें : 15 दिसंबर से किसानों से धान क्रय की होगी शुरुआत, आठ लाख टन खरीद का लक्ष्य

बताया जा रहा है कि परिवार के 9 लोग 25 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से लौटे थे. परिवार के सदस्यों में से माता-पिता और उनकी 8 साल और 15 साल की दो बेटियां संक्रमित पाई गई हैं. सबसे बड़ी चिंता की ये बात है कि इन लोगों के संपर्क में आए 12 लोगों में से 5 सदस्य भी कोरोना पॉजिटिव पाए गए.

ram janam hospital
Catalyst IAS

25 नवंबर को अफ्रीका से लौटा था परिवार

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

ओमिक्रोन के अलर्ट को देखते हुए सभी को क्वारेंटाइन कर आइसोलेशन में रखा गया है. सभी के कोरोना सैंपल की जीनोम सीक्वेंसिंग करवाई जाएगी जिसके बाद ये तय होगा कि ये ओमिक्रोन वैरिएंट है या नहीं. हालांकि इन सभी 9 लोगों में से सभी वयस्कों को वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी है और किसी के भी कोरोना के कोई लक्षण नहीं आए है और सभी सामान्य है. बताया जा रहा है कि ये परिवार 25 नवंबर को अफ्रीका से लौटा था.

इसे भी पढ़ें : MGNREGA में JCB के उपयोग पर होगी FIR, होगी नीलामी

बढ़ते मामले को लेकर स्वास्थ्य मंत्री गंभीर

राजस्थान के चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा कोरोना के बढ़ते मामलों को लेकर चिंतित है और इसे लेकर उन्होंने अपने विभाग के साथ बैक टू बैक बैठकें लेना शुरू कर दिया है. उन्होंने आगामी दिनों में प्रदेश में कोरोना टेस्टिंग को बढ़ाने, दिसंबर के अंत तक शत प्रतिशत लोगों को वैक्सीन का पहला डोज लगाने, दूसरे डोज में गति लाने और कोरोना से हुई मौतों के मुआवजे देने संबधी मामले जल्द से जल्द निपटाने के निर्देश दिए हैं.

चिकित्सा मंत्री ने कोरोना संक्रमण के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए सार्वजनिक स्थलों जैसे भीड़-भाड़ वाले बाजार, मंडियों, बस स्टैंड, रेलवे स्टैंड और पर्यटक स्थलों और स्कूलों में रैंडम सैंपलिंग के निर्देश दिए. उन्होंने बताया कि वर्तमान में 28 हजार से ज्यादा सैंपल प्रतिदिन लिए जा रहे हैं. उन्होंने प्रतिदन एक लाख तक सैंपल लेने के निर्देश दिए. उन्होंने अस्पतालों के आउटडोर या इंडोर में आने वाले सस्पेक्टेड, आईएलआई मरीजों का कोविड सैंपल लेने के भी निर्देश दिए. उन्होंने कहा कि जितने ज्यादा सैंपल लिए जाएंगे उतना जल्दी संक्रमण पर नियंत्रण पाया जा सकेगा.

भारत में अभी तक ओमिक्रॉन के दो केस

भारत में भी शुक्रवार को ओमिक्रॉन की दस्तक हो गई है. कर्नाटक में ओमिक्रॉन के दो केस मिले हैं. इनमें से एक 66 साल के बुजुर्ग हाल ही में दक्षिण अफ्रीका से लौटे हैं जबकि दूसरा शख्स एक स्वास्थ्यकर्मी है. हालांकि दोनों को कोरोना वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी हैं.  बता दें कि अब तक 29 देशों में ओमिक्रॉन वैरिएंट से संक्रमित मरीजों की पहचान हो चुकी है और WHO ने इसे वैरिएंट ऑफ कंसर्न की कैटेगरी में रखा है. सबसे पहले दक्षिण अफ्रीका में इस वैरिएंट से संक्रमित मरीज की पहचान की गई थी.

इससे पहले गुरुवार को दिल्ली एयरपोर्ट पर कुल तीन हजार इंटरनेशनल यात्री लैंड किए थे. अब उनमें से 6 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. शुक्रवार को इनके सैंपल जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए भेजे गए हैं.

इसे भी पढ़ें : ब्राउन शुगर की तस्करी करने वाली मॉडल ज्योति के प्रेमी को पुलिस ने दबोचा, किया कई खुलासे

Related Articles

Back to top button