Corona_UpdatesSports

कोरोना के चलते ओलंपिक सांस्कृतिक कार्यक्रम रद्द, ओलंपिक खेल 2020  अगले साल तक के लिए स्थगित किये जा चुके हैं

Tokyo :  तोक्यो ओलंपिक के आयोजकों ने गुरुवार को कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण के कारण अगले महीने होने वाला सांस्कृतिक कार्यक्रम रद्द कर दिया गया है जिसमें काबुकी की परफार्मेंस और ओपेरा होना था.

इससे पहले मंगलवार को अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से बातचीत के बाद तोक्यो ओलंपिक अगले साल तक टालने का फैसला किया.

advt

तोक्यो 2020 निप्पोन फेस्टिवल 18 अप्रैल को होना था. इसमें जापान के काबुकी अभिनेता एबिजो इचिकावा और इटली तथा उरूग्वे के ओपेरा सिंगर्स को भाग लेना था.

बता दें कि अंतरराष्ट्रीय ओलंपिक समिति ने मंगलवार को घोषणा की थी कि विश्व भर में फैली कोरोना वायरस महामारी के कारण तोक्यो ओलंपिक खेल 2020 को अगले साल गर्मियों तक के लिए स्थगित कर दिया गया है.

इसे भी पढ़ेंः #ReliefPackage: लॉकडाउन के कारण दूसरे राज्यों में फंसे बिहारी मजदूरों के लिए नीतीश सरकार ने दिया 100 करोड़ का राहत पैकेज

adv

24 जुलाई से 9 अगस्त के बीच होना था ओलंपिक 

पूर्व कार्यक्रम के अनुसार इन खेलों का आयोजन 24 जुलाई से नौ अगस्त के बीच होना था लेकिन आइओसी अध्यक्ष थामस बाक और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे के बीच टेलीफोन पर बातचीत के बाद ओलंपिक को पहली बार शांतिकाल में भी स्थगित करने का ऐतिहासिक फैसला किया गया.

इसे भी पढ़ेंः #Corona_Effect: 5 अप्रैल से रांची में होनेवाली सेना भर्ती रैली स्थगित, बाद में होगी नयी तारीख की घोषणा

आबे के प्रस्ताव पर बाक ने जतायी सहमति

आबे ने इससे पहले कहा था कि जापान ने आइओसी से खेलों को एक साल के लिए स्थगित करने के लिए कहा जिस पर बाक ने शत प्रतिशत सहमति जतायी.

एक संयुक्त बयान में इन दोनों ने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के नवीनतम जानकारी के आधार पर तोक्यो खेलों का कार्यक्रम 2020 से आगे की तारीख में तय करना होगा लेकिन यह 2021 की गर्मियों से आगे नहीं होगा. ऐसे खिलाड़ियों, ओलंपिक खेलों में शामिल प्रत्येक व्यक्ति और अंतरराष्ट्रीय समुदाय के स्वास्थ्य और सुरक्षा को ध्यान में रख कर किया गया है.

बयान में कहा गया है कि इन दोनों ने सहमति व्यक्त की कि तोक्यो में ओलंपिक खेल इस मुश्किल घड़ी में दुनिया के लिए आशा की किरण बन सकते हैं और दुनिया अभी खुद को जिस अंधेरे में पा रही है उसमें ओलंपिक मशाल प्रकाशपुंज का काम कर सकती है.’’

इसके अनुसार, ‘‘इसलिए इस पर सहमति बनी है कि ओलंपिक मशाल जापान में ही रहेगी. यह भी सहमति बनी है कि खेलों को पहले की तरह ओलंपिक और परालंपिक खेल तोक्यो 2020 के नाम से ही जाना जायेगा.

यह तोक्यो शहर के लिए बड़ा झटका है जिसकी ओलंपिक खेलों की तैयारियों के लिए अब तक काफी सराहना हुई है. खेलों के लिए स्टेडियम काफी पहले तैयार हो गये थे और बड़ी संख्या में टिकट भी बिक गये थे.

इसे भी पढ़ेंः #ChineseVirus19: पार्षद भी दिख रहे आगे, किसी ने बांटे मास्क तो किसी ने की डॉक्टर की व्यवस्था

 

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close