JharkhandKodermaLead News

विधायक के आरोप को अधिकारियों ने बताया गलत

Koderma: विधायक नीरा यादव ने विधानसभा में डीसी और एसपी पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था. आरोप को दोनों अधिकारियों ने गलत बताया है. मामले में डीसी रमेश घोलप ने कहा कि इस तरह का कोई भी निर्णय जिला सुरक्षा समिति की बैठक में होती है. पिछले दिनों बैठक हुई थी.

बैठक में डीसी, एसपी के अलावा कई अधिकारी होते हैं. इसी बैठक में सुरक्षा संबंधी समीक्षा की जाती है और निर्णय लिए जाते हैं. गृह विभाग की पूर्व चिट्ठी के आलोक में विधायक को कितने बॉडीगार्ड देनी होती है, इसपर चर्चा की गयी थी.

विधायक नीरा यादव को तीन बॉडीगार्ड उपलब्ध हैं, और दो मुहैय्या कराना है. इसमें एक बॉडीगार्ड को कम करने पर चर्चा हुई थी, लेकिन फिलहाल किसी को हटाया नहीं गया है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

इसे भी पढ़ें: CM अमरिंदर सिंह की पोती की शादी, फारूक अब्दुल्ला ने लगाए ठुमके

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

नहीं हटाया गया है बॉडीगार्ड और हाउस गार्ड : एसपी

एसपी डॉ.एहतेशाम वकारिब ने कहा कि विधायक नीरा यादव के बॉडीगार्ड और हाउस गार्ड को हटाया नहीं गया है. उन्होंने कहा कि इसकी समीक्षा की जा रही है. समीक्षा जिला सुरक्षा समिति की बैठक में ही होता है.

इसे भी पढ़ें: नक्सलियों को खबर थी कि तीन दिन पर होगी फोर्स की अदला-बदली, घात लगाकर किया विस्फोट

Related Articles

Back to top button